Internship Meaning in Hindi (इंटर्नशिप का अर्थ क्या होता है)

internship meaning in Hindi – आप सभी ने कभी ना कभी इंटर्नशिप के बारे मे जरूर सुना होगा वास्ताविकता मे इसका अर्थ यह होता है की कोई वयक्ति किसी संस्था या किसी व्यक्ति द्वारा कोई (Skill) स्किल सीख रहा है

और वो इस स्किल के बदले फीस भी भुगतान करे  ऐसा हो सकता है और यदि वो व्यक्ति किसी सरकारी संस्था से ये इंटर्नशिप कर रहा है तो उसको इसके बदले मे स्टिपन्ड भी मिलती है।

इंटर्नशिप को करने के अनेक प्रकार से फायदे है जिसकी जानकारी आज हम आप के साथ साझा करने वाले है

और साथ ही इंटर्नशिप कितने प्रकार की होती हैं और किस प्रकार से होती हैं इसके बारे मे पूरी जानकारी विस्तार में बताने कोशिश करेंगे

यदि आप भी internship के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो इस लेख को शुरवात से अंत तक जरूर पढ़े

और अपने दोस्तों के साथ इस जानकारी को शेयर करना न भूले क्यों की हो सकता है | आप के अलावा उन्हें भी इस जानकारी की जरूरत हो !

 

Internship Meaning in Hindi
Internship Meaning in Hindi

 

Internship Meaning in Hindi (इंटर्नशिप का अर्थ क्या होता है)

इंटर्नशिप का शाब्दिक अर्थ होता है कोई कौशल को किसी व्यक्ति या किसी संस्था द्वारा सीखना ताकि उस कौशल का प्रयोग किसी जॉब या किसी ऐसी कंपनी मे किया जा सकता है जहां पर इसकी आवश्यकता हो।

कई लोगो को इंटर्नशिप का अर्थ हिन्दी मे क्या होता हैं इसका मतलब भी नही पता होता है।

इंटर्नशिप को एक ऐसी ट्रेनिंग के रूप मे माना जा सकता है जिसको करने के बाद किसी व्यक्ति को जॉब मिलने मे आसानी होती हैं क्योंकि इसके द्वारा वो किसी एक काम मे निपुण बन जाते है।

इंटर्नशिप को एक स्किल डेवलपमेंट की तरह देखा जाता है जिसमे कोई व्यक्ति अपने आप को किसी एक काम मे माहिर करता हैं।

इंटर्नशिप का यदि सब्धिक अर्थ देखा जाए तो इसका अर्थ होता है किसी व्यक्ति या संस्था के निर्देशन मे कार्य करना

 

पैड इंटर्नशिप (Paid internship)का अर्थ हिन्दी मे क्या होता हैं :

अगर हम किसी स्किल को सीखने के बदले जब उस स्किल को सीखने का भुगतान करते हैं तो उसको पैड इंटर्नशिप कहा जाता हैं।

आमतौर पर इस प्रकार की इंटर्नशिप एविएशन सेक्टर या किसी स्टार्टअप सेक्टर में देखने को मिलती हैं। इनमें स्किल सीखने वाले को एक निश्चित मात्रा में भुगतान करना होता है।

पैड इंटर्नशिप मे भी एक प्रमाण पत्र दिया (Experience letter) जाता है जोकि किसी कंपनी आदि जॉब मे काम आती हैं।

कई सारी सरकारी संस्थाएं भी इस प्रकार की इंटर्नशिप करवाती है जिसमे की अभ्यर्थी को एक निश्चित मात्रा में भुगतान करना होता है।

कई सारे युवा Paid internship इसलिए करते हैं क्योंकि इसमें जॉब मिलने की संभावनाएं बहुत ज्यादा होती हैं। यही कारण है कि आज कल पैड इंटर्नशिप का क्रेज युवाओं में बढ़ रहा है।

 

इंटर्नशिप का क्या महत्व है 

आज के इस दौर में जहां हर ओर काम के लिए मारामारी चल रही हैं ऐसे में यदि किसी व्यक्ति के पास कोई स्किल हो तो उसको जॉब मिलने की संभावनाएं बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं

क्योंकि आज हर संस्था एक ऐसा कर्मचारी चाहती हैं जो उस काम मे माहिर हो जिस काम को वह संस्था करवाना चाहती हैं।

इंटर्नशिप को करने के बाद किसी संस्था या कंपनी मे काम मिलने की संभावनाएं बहुत बढ़ जाती है क्योंकि हर निजी कंपनी यह चाहती है कि उसके कर्मचारी स्किल्ड (चतुर) हो।

इंटर्नशिप का महत्व खास तौर पर  प्राइवेट सेक्टर मे बढ़ जाती है क्योंकि वहां पर हर व्यक्ति जॉब चाहता है।

साथ ही इंटर्नशिप करने का एक ये भी फायदा है की हम इसे करने के बाद एक स्किल मे सक्षम हो जाते जो हमे भविष्य में जॉब ढूंढने में भी मदद करती हैं।

 

स्टाइपेंड (Stipend) इंटर्नशिप का अर्थ हिन्दी में क्या होता हैं 

जब कोई व्यक्ति को किसी इंटर्नशिप के बदले में एक निश्चित मात्रा में  सैलरी दी जाती है तो इसे स्टाइपेंड इंटर्नशिप कहा जाता है।

आमतौर पर इस प्रकार के इंटर्नशिप को कही सरकारी संस्था द्वारा कराए जाता है जैसे कि रेलवे या कोई भारत सरकार की कंपनी है जो भारत सरकार के अधीन आती है।

इस प्रकार की इंटर्नशिप जब कराई जाती हैं तो उम्मीदवार को कई बार वर्तमान तथा भविष्य में उन उम्मीदवार को संस्था मे फिक्स भी कर दिया जाता है ताकि उस संस्था को किसी और प्रकार से अपने कर्मचारियों को नही लेना पड़े।

इस प्रकार की इंटर्नशिप का एक निश्चित समय सीमा में पूरी कराई जाती हैं जैसे दो या तीन साल।

इस अवधि मे इंटर्नशिप करने वाले को एक निश्चित मात्रा में भुगतान भी किया जाता है और इसी को Stipend internship कहा जाता है।

ये इंटर्नशिप अधिकतर सरकारी संस्थाएं ही करवाती है ताकि उनके द्वारा दिए गए प्रणाम पत्र का इस्तेमाल किसी जॉब आदि में किया जा सकता है।

जैसे कोई व्यक्ति किसी सरकारी संस्था से इंटर्नशिप करता है तो इसके बाद उसी संस्था द्वारा कई बार अपने कार्यलयो के लिए परमानेंट आधार पर भी भर्ती की जाती हैं

और उस समय उन्ही लोगो को वरीयता दी जाती हैं जो की उस संस्था से इंटर्नशिप कर रखे हैं जिस कारण भी युवाओं में इंटर्नशिप का जोश रहता है।

 

स्कूल इंटर्नशिप का हिन्दी मे क्या अर्थ होता है 

स्कूल इंटर्नशिप सामान्य इंटर्नशिप से पूरी तरह अलग होती हैं क्योंकि इसमें किसी भी प्रकार का भुगतान नही किया जाता है और ना ही किसी प्रकार का प्रणाम पत्र दिया जाता हैं।

जब कोई विद्यार्थी बेचलर इन एजुकेशन की डिग्री लेता है तो उसे दो वर्षो तक यह डिग्री प्राप्त करनी होती हैं

और इन्ही दो वर्षो में इसे दो बार एक या दो महीनो के लिए कोई सरकारी स्कूल दी जाती हैं जहां उनको इंटर्नशिप करनी होती हैं और इसी को स्कूल इंटर्नशिप कहा जाता हैं।

यह इंटर्नशिप इसलिए कराई जाती हैं ताकि उस विद्यार्थी की पहचान हो पाए की वास्तविकता मे वो विद्यार्थी अध्यापक बनने के काबिल है या नहीं।

इसकी अवधि अलग अलग राज्यो मे अलग अलग हो सकती हैं जैसे कि उत्तर प्रदेश में ये सात महीनों की होती हैं वहीं यदि बात की जाए राजस्थान की तो ये पांच महीनों कि होती हैं।

स्कूल इंटर्नशिप मे इंटर्नशिप करने वाले लर्नर्स द्वारा विद्यार्थियों को पढ़ाया जाता है, और अपनी स्किल को डेवलप किया जाता है, जो की उन्हे भविष्य में एक निपुण अध्यापक बनने मे मदद करेगी।

इस प्रकार की इंटर्नशिप द्वारा उस विद्यार्थी की आद्यापको को लेकर सभी संकाओ को भी दूर किया जाता है और साथ ही उनको इस बात से भी परिचित कराया जाता है वास्तविकता में उनका एक शिक्षक के रूप मे क्या दायित्व होगा।

 

इंटर्नशिप और प्लेसमेंट का हिन्दी मे क्या अर्थ होता है 

इंटर्नशिप का अर्थ होता है की आप किसी स्किल को एक निश्चित अवधि के लिए सीख रहे है और आपको उस स्किल सीखने के बदले मे आपको भुगतान भी किया जाए यदि आप उस इंटर्नशिप को किसी सरकारी संस्था से कर रहे हैं।

INTERNSHIP

PLACEMENT 

इंटर्नशिप का अर्थ होता है की आप किसी स्किल को एक निश्चित अवधि के लिए सीख रहे है

और आपको उस स्किल सीखने के बदले मे आपको भुगतान भी किया जाए यदि आप उस इंटर्नशिप को किसी सरकारी संस्था से कर रहे हैं।

जबकि प्लेसमेंट का अर्थ होता है आप किसी कंपनी मे काम कर रहे हैं

और आपको भुगतान सालना पैकेज के आधार पर किया जाएगा और ये भी निश्चित मात्रा में जो कि आपके पूर्व में बताया जाता है।

इन दोनो मे जो एक महत्वपूर्ण अंतर है वह ये है कि इंटर्नशिप को स्किल डेवलपमेंट के उधाशय से किया जाता है

और इसे करने के बाद हमको जॉब मिलने मे आसानी होती हैं जबकि प्लेसमेंट मे हमे परमानेंट जॉब मिलती हैं जो की सालाना पैकेज पर दी जाती है।

आमतौर पर प्लेसमेंट आईआईटियंस या आईआईएम स्टूडेंट्स को दी जाती हैं और वो भी बड़ी बड़ी कंपनियों द्वारा।

इंटर्नशिप मे ऐसा भी नहीं है कि इसको करने के बाद कोई जॉब फिक्स हो लेकिन ये जरूर हैं की इसको करने के बाद हमे अन्य लोगो की तुलना में ज्यादा वरीयता दी जाती हैं जो कि इसका एक सकारात्मक पहलू है।

 

वर्चुअल इंटर्नशिप का हिन्दी मे क्या अर्थ होता है

हम सभी ने हाल ही के वर्षो में कॉरोना जैसी महामारी को झेला है तो इसका एक सकारात्मक पहलू यह भी रहा है की हमने कई अन्य विकल्प भी खोजे और उन में से एक है वर्चुअल इंटर्नशिप

आमतौर पर इंटर्नशिप को ऑफलाइन ही कराया जाता था परंतु आज इसे ऑनलाइन कराया जाता है इसी को वर्चुअल इंटर्नशिप कहा जाता है।

इसके द्वारा हम इंटर्नशिप मे सिखाए जा रहे कॉन्सेप्ट को और अच्छी तरह से सीख सकते है क्योंकि इसमें टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जाता है ताकि सीखने वाला और अच्छी तरह से उसे सीख सकें।

वर्चुअल इंटर्नशिप का प्रयोग हाल ही में स्कूल के विद्यार्थियों के लिए किया गया था ताकि वो घर बैठे ही अपनी स्किल डेवलपमेंट कर पाए और इस समय का सदुपयोग कर पाए जो की एक सकारात्मक सोच है।

साथ ही कई सारी सरकारी संस्थाओं द्वारा भी वर्चुअल इंटर्नशिप का सहारा लिया गया ताकि वे अपने इंटरनर्स को स्किल्ड बना सके।

वर्चुअल इंटर्नशिप को करने का ये फायदा रहता है की कोई कही गए बिना भी अपनी स्किल को घर बैठे उन्नत कर सकता है वो भी बिना किसी अतिरिक्त खर्च के जो की बहुत अच्छी बात हैं,  उन लोगों के लिए जो कही आवागमन नहीं कर सकते हैं

और खासतौर पर उन महिलाओं के लिए जो गृहिणी है और किसी कारण वश ऑफलाइन इंटर्नशिप नही कर पा रही है।


Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने Internship Meaning in Hindi  बारें में जाना। आशा करते है आप पैड इंटर्नशिप, स्टाइपेंड इंटर्नशिप,स्कूल इंटर्नशिप सहित वर्चुअल इंटर्नशिप का हिन्दी मे क्या अर्थ होता है की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

अगर आपका इससे संबन्धित किसी भी तरह का सवाल है तब नीचे कमेन्ट में पूछ सकते है जिसका जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी शेयर करना चाहिए तो इसे सोश्ल मीडिया पर सबके साथ इसे साझा अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस लेख को पढ़ने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

Leave a Comment