Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai – सूरज धरती से कितना दूर है

Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai : जैसा कि आप सब जानते हैं सूरज के बिना हमारे पृथ्वी की ऊर्जा जीवित नहीं रहती, सूर्य पृथ्वी की तुलना में काफी बड़ा तारा है सूरज सौरमंडल के चारो ओर घूमता रहता है

लेकिन आपके दिमांग में कई बार ऐसा सवाल आया होगा कि अगर सूरज पृथ्वी से बड़ा है तो यह धरती से कितना दूर है। जानकारी के लिए आपको बता दें सूरज धरती से लगभग 149,597,870 किलोमीटर की दूरी पर है

सूरज सौरमंडल का चमकदार और आकर्षित करने वाला  एक मात्र तारा है। जिनमे सेकड़ो रहस्य छुपे हैं, और वैज्ञानिक उसकी जड़ तक जाकर सही जानकारी इकट्ठा करने में लगे हैं।

आपको इस आर्टिकल में सूरज के बारे में अन्य दिलचस्प जानकारी बताएगी जो आपके लिए काफी इंफॉर्मेटिक्स रहने वाली है।

 

Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai
Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai

 

सूरज कितनी दूरी पर है  (Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai)

खोज कर रहे वैज्ञानिक को जानकारी के मुताबिक सूरज पृथ्वी से बाकी ग्रहों से काफी दूर है फिर भी अगर आपको इसकी दूरी के बारे में बताए तो सूरज पृथ्वी से 14.96 करोड़ किलोमीटर से भी ज्यादा दूरी पर है

सीधे तौर पर बताए तो 92,995,800 मिल दूर है। और कई रिसर्च में यह सामने आया है कि सूरज पृथ्वी से 100 गुना बड़ा है

और सूरज पृथ्वी से इतने दूरी पर होने के बावजूद हमारे पृथ्वी को कम्फर्ट वातावरण के लिए तापमान मिलता रहता है

लेकिन उसके करीब जाने की लगभग किसी भी वैज्ञानिको ने हिम्मत नही की | क्योंकि सोचिए अगर पृथ्वी से इतनी दूरी पर होने से भी हमे भारी तापमान रहता है तो उसके पास जाने की हिम्मत कौन करेगा।

 

सूरज कितने किलोमीटर दूर है 

सूरज एक बेहद ही चमकदार तारा है जो सौरमंडल में स्थित हैं।  इसके अलावा सौरमंडल सात ग्रह परिक्रमा करते है और उन सौरमंडल में पृत्वी भी एक ग्रह है जो सौरमंडल की परिक्रमा करता है। सूरज की दूरी 14.96 करोड़ किलोमीटर की दूरी पर है

हमारे पूरे ब्रह्मांड में कई तारे सूरज की तुलना में बड़े है लेकिन वह पृथ्वी से कई मिलो दूर है हमारे पृथ्वी का संतुलन बनाए रखने के लिए सुरज और पृथ्वी के बीच चांद भी परिक्रमा करता है। जिसके हमारे पृथ्वी का एक आदर्श वातावरण बनाए रखने में मदद मिलती हैं।

 

सूर्य की पृथ्वी से दूरी कितनी है 

पृथ्वी से दुरे ग्रहों की तरह सूर्य में भी उतनी दूरी पर है जिसकी तुलना दूसरे ग्रहों से नही कर सकते हैं

लेकिन दूसरे तरीकों से आपको बताए तो सूर्य पृथ्वी से लगभग 148.19 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर है।

और इसका व्यास लगभग 12 लाख 90 हजार किलोमीटर का है। हम में से कई लोग सूर्य को पिंड के रूप भी जानते हैं, वह इसीलिए क्योंकि यह एक चमकदार सकर्ल जैसा आकर्षण तारा है।

अब आपके दिमांग से यह कंफ्यूजन दूर हो गया होगा कि suraj dharti se kitna dur hai लेकिन इसके अलावा हम और भी जानकारी बताने जा रहे है। इसलिए आर्टिकल पूरा पढ़िएगा ताकी आपको सूरज के बारे में ज्यादा से ज्यादा जान सके।

 

सूर्य से पृथ्वी कितनी छोटी है

आपको यह जानकार हैरानी होगी कि सूर्य जितना पृथ्वी से दिखता है उनसे कही गुना छोटी सूर्य से पृथ्वी दिखाई देती है। और आपको बता दें सूर्य पृथ्वी से इतना बड़ा है कि 100 पृथिव्यां समा जाए।

 

सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी पर आने में कितना वक्त लगता है

पृथ्वी से सूर्य यानीके सूरज धरती से कितना दूर है उसका जवाब हमने आपको पहले दे दिया है | लेकिन आपको बता दें सूर्य पृथ्वी से औरतम 92,995,800 मिल दूर होते हुए भी उसका प्रकार धरती पर आने में ज्यादा समय नही लगता है

हमारी जानकारी के मुताबिक सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी पर आने में लगभग आठ मिटन का ही समय लगता है।

 

सूरज के अंदर क्या है

सूरज लगभग कई दशकों पुराना है जिसका पता अंतरिक्ष वैज्ञानिक भी नही लगा पाए हैं।

लेकिन सब के दिमांग में सूरज से जुड़ी अनोखी बाते जानने के लिए बेताब हैं । जैसा की धरती से सूरज कितना दूर है, सूरज से किरणें पृथ्वी के लिए कितनी मायने रखती हैं

लेकिन जानकारी के लिए आपको बता दें चांद कार्बनिक तत्वों से बना है वैसी ही सूरज हाइड्रोजन और हीलियम से बना है।

 

सूर्य से चंद्रमा की दूरी कितनी है

पृथ्वी से सूर्य की दूरी जितनी है वैसे ही सूर्य से चंद्रमा की दूरी में काफी बड़ा फासला है।

जैसा कि पृथ्वी से सूर्य19 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर है। उससे कहीं ज्यादा लगभग 150 मिलियन किलोमीटर सूर्य से चंद्रमा की दूरी हैं।

सूर्य और चंद्रमा दोनो पृथ्वी के साथ परिक्रमा करते है। सीधे तौर पर अगर आपको बताई तो पृथ्वी सूर्य का चक्कर लगाती हैं और चंद्रमा पृथ्वी की चारो ओर घूमती है।

 

सूर्य का वजन कितना है

सूर्य की गति की रफ्तार लगभग 200 किलोमीटर प्रति सेकंड की है। इस रफ्तार के मुताबिक आपको लगा रहा होगा कि सूर्य बाकी ग्रहों और तारो से हल्का होगा

लेकिन आपको बता दें। पूरे सौरमंडल में सबसे ज्यादा वजन सूर्य का है सूर्य का वजन लगभग 80 प्रतिशत वजन सौरमंडल की तुलना में काफी ज्यादा है।

 

सूर्य को धार्मिक महत्व भी दिया गया है

जिस तरह से मानव पृथ्वी पर है उससे कई सालों पहले से सूर्य और पृथ्वी का निर्माण हुआ है और कैसे हुआ उसका अंदाजा लगाना काफी कठिन है

लेकिन सूर्य एक देवता के रूप में हमारे धार्मिक ग्रंथों में पूजे जाने वाला धार्मिक महत्व दर्शाता है। जिस तरह से पृथ्वी पर जल वायु हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण है

उसके साथ ही सूर्य की ऊर्जा पृथ्वी में फलने फूलने वाली चीजों के लिए उनका काफी बड़ा योगदान है। और धर्मशास्त्र के मुताबिक सूर्य सृष्टि के देवता भी माने जाते है।

 

सूर्य का तापमान कितना बड़ा है

सूरज जैसा दिखता है वैसा ही आग का एक गोला है। और सूर्य के सतह में लगभग 5500.85 डिग्री सेल्सियस तापमान से भरा है। सूर्य का तापमान इतना बड़ा है कि सौर-वायुमंडल तक  उसका भंयकर तापमान पहुँचता है। यह लगभग 10.15  लाख डिग्री सेल्सियस तापमान तक पहुँचता है।

 

पृथ्वी की परिक्रमा करने की सूर्य की गति

जैसा कि आप जानते है धरती से सूरज कितना दूर है | उतनी ही रफ्तार काफी तेज है हमारे सुबह उठने से लेकर शाम तक सूर्य की परिक्रमा है।

पृथ्वी 28.79 किलोमीटर प्रति सेकंड में 1,07,208 प्रति घंटे की रफ्तार से सूर्य की चारो और चक्कर लगाती हैं। आपको एक और महत्वपूर्ण बात बता दें कि पृथ्वी एक साल में 95 करोड़ किलोमीटर की दूरी तय करती हैं।

 

सूर्य का तापमान कितना डिग्री तक बढ़ता है

सूर्य का तापमान 150 लाख डिग्री सेंटीग्रेड से भी ज्यादा है। मान लो कि उसके करीब जाना मौत को दावत देने के बराबर है।

सीधे तौर पर अगर आपको बताये तो लगभग 5000 सेंटीग्रेड जितना तापमान सूर्य के पास है।

 

सूरज कौन देश की ओर डूबता है

सूरज के डूबने और सूरज के निकलने के प्रतीत को हम अच्छे से जानते है, और यह भी जान लिया कि Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai अब आपको यह भी बता दें कि सूरज जिस दिशा में डूबता है वहा कौनसा देश है। डूबते हुए सूरज का देश ब्रिटिन है जिसे कई लोग नॉर्वे देश भी कहते है।

 

सूर्य और पृथ्वी की दिलचस्प बातें

  • जैसे चांद पर लोग जा सकते और वैसे ही सूर्य पर जाने का विचार किसी ने भी आज तक नही किया क्योंकि सूर्य एक आग का गोल है। जो जंद सेकंड में भस्म कर सकता है।
  • सूर्य 13 लाख 90 हजार के व्यास वाला यह तारा सौरमंडल का पांचवा सबसे बड़ा पिंड है और पृथ्वी से सौ गुना बड़ा है।
  • पृथ्वी सूर्य पर निर्भय है क्योंकि जब तक सूर्य अपनी ऊर्जा पृथ्वी पर बनाये रखती है तब तक पृथ्वी का वातावरण संतुलन रहता है।
  • पृथ्वी पर सूर्य के किरण पड़ने में कम से कम 8 मिनट का समय लगता है।
  • सूर्य ग्रहण होने का कारण चंद्रमा सूर्य के सामने आ जाता है इसलिए जभी सूर्य ग्रहण होता है तब उसका प्रकार कम हो जाता है जो चन्द्रमा सूर्य के प्रकाश को कवर कर लेता है।

 

FAQs – Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai in Hindi 

सवाल :  सूरज के प्रकाश की गति क्या है

जानकारी के मुताबिक 2,99,792,458 मीटर प्रति सेकंड से रफ्तार की गति है

सवाल : भारत मे कौनसे शहर में सूर्योदय सबसे पहले होता है

भारत के सबसे लोकप्रिय राज्य अरुणाचल प्रदेश मे होता है।

सवाल : पूरी दुनिया मे कितने सूर्य है

दुनियाभर में कई हजारो संख्या में आकाशगंगा में सूर्य है।

सवाल : सूर्य ने कब से चमकना शुरू किया

आपको बता दें सूर्य लगभग 5 अरब वर्षो से सौरमंडल में चमक रहा है और आनेवाले 6 अरब वर्ष तक चमकता ही रहेगा।

सवाल : सूर्य धब्बे जैसा क्यों दिखाई देता है

सूर्य दूर से धब्बे जैसे देखने का कारण उनका सनस्पॉट है। सूर्य जैसी घूमता है उसकी प्रक्रिया के साथ सनस्पॉट अंदर की ओर चला जाता है।

 

Conclusion

उम्मीद करते है आप को Suraj Dharti Se Kitna Dur Hai इसके बारे में सटीक जानकारी प्राप्त हूई होगी, आज के लेख में हम ने सूरज और धरती के बिच के अंतर सहित सूर्य की पृथ्वी से दूरी कितनी है, सूर्य यहा से कितना दूर है जैसे अन्य सभी सवालो का जवाब विस्तार में जानने की कोशिश की है

यदि अभी भी आप को सूरज और धरती के अंतर संबंधित कोई सवाल मन में होगा तो आप निचे कमेंट कर के पूछ सकते है जिसका हम जरूर जल्द से जल्द रिप्लाई देने की कोशिश करेंगे , इस लेख को शुरवात से अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

Leave a Comment