Bharat ki pahli mahila firefighter kaun Hai | भारत की पहली महिला फायर फाइटर कौन है

Bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai : आपने एक पुरानी कहावत तो जरूर सुनी होगी कि अगर आग से खेलोगे तो जल जाओगे या फिर आग से खेलना कोई बच्चों का काम थोड़ी है

जब कभी भी आग लगती है तो हमारी जबान पर जो सबसे पहला नाम होता है वह फायर फाइटर्स का होता है क्योंकि वही जल्दी से जल्दी बहुत ही भयानक आग को बुझा सकते हैं और इसलिए उन्हें भगवान का दर्जा भी दिया जाता है

कई बार हम केवल डॉक्टर्स को ही भगवान का दर्जा देते हैं जबकि वह प्रत्येक व्यक्ति हमारे लिए भगवान है जिसने हमें मुसीबत से बचाया हैं और चूंकि फायरफइटर्स भी हमें आग से खेल कर हमारी जान बचाते हैं इसीलिए वे भी हमारे लिए भगवान से कम नहीं है

आज के इस लेख में हम यही जानने वाले हैं कि bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai और साथ ही हम फायर फाइटर से जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां

जैसे कि विश्व की पहली महिला फायर फाइटर कौन थी, फायरफाइटर्स की सैलरी कितनी होती हैं या फायर फाइटर्स का क्या काम होते हैं, इत्यादि जानकारी भी भी आपके साथ साझा करेंगे

ताकि आपके मन में फायर फाइटर से जुड़ी जो भी जानकारी जानने की इच्छा है, वह इस लेख को पढ़ने के बाद पूरी हो जाएगी

हमें खास तौर पर यह जानने की बड़ी इच्छा रहती है कि प्रथम कौन है, अंतिम कौन हैं, ऐसे सवालों को पढ़ने के लिए हमारे मन में कई सारी जिज्ञासाए भी बनी रहती है

 

Bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai
India’s First Woman Firefighter in Hindi 

 

Bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai

आज महिलाएं हर क्षेत्र में पुरुषों के बराबर कंधे से कंधा मिलाकर चल रही हैं चाहे वह जॉब हो या मेडिकल क्षेत्र हो या उद्योग का क्षेत्र हो या फिर कोई अन्य क्षेत्र हो

आज भारत में कई ऐसी महिलाएं हैं जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रों में विशेष काम करके इस देश का नाम रोशन किया है

जैसे बॉक्सिंग में मैरीकॉम ने, क्रिकेट में मिताली राज और झूलन गोस्वामी ने, एयरफोर्स में अवनी चतुर्वेदी ने, वेटलिफ्टिंग में मीराबाई चानू ने और ना जाने ऐसी कितनी ही महिलाओं के नाम हम ले सकते हैं,

जिन्होंने पुरुषों के बराबर खड़े होकर इस देश का नाम चारों दिशाओं में रोशन किया है उसी प्रकार फायर फाइटिंग में भी एक ऐसी महिला हैं जिसने भारत की पहली महिला फायर फाइटर बन कर इस देश का नाम रोशन किया है

अब हम देखेंगे की bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai तो सुन लीजिए की

भारत की पहली महिला फायर फाइटर का नाम   हर्षिनी कानेकर है   जो कि भारत के राज्य महाराष्ट्र के जिले नागपुर की रहने वाली हैं

आज तक के फायर फाइटिंग के इतिहास में भारत में केवल हर्षिनी कानेकर ही एकमात्र महिला हैं जो की फायर फाइटर बन पाई है और ऐसा करके इन्होंने ना केवल महाराष्ट्र का नाम रोशन किया बल्कि पूरे भारत का नाम भी रोशन किया है

हर्षिनी कानेकर से जब पूछा गया कि आपने इस फायर फाइटिंग की जॉब को क्यों सिलेक्ट किया है तो उनका एक ही जवाब था कि

यदि भारत के पुरुष किसी काम को कर सकते हैं तो उसी काम को महिलाएं क्यों नहीं कर सकती” और यही उनके फायर फाइटिंग की जॉब को अपनाने का कारण बना


हर्षिनी कानेकर का जीवन परिचय – Biography of hershini kannekar

36912170465 a58e65a845 o

अगर हमें हमारे जीवन में किसी भी प्रकार के मोटिवेशन की आवश्यकता होती है, तो हम किसी महापुरुष की जीवनी को पढ़ते हैं और यह देखते हैं कि उन्होंने किस प्रकार से सफलता को स्ट्रगल करते हुए हासिल किया

अगर हर्षिनी कानेकर के जीवन परिचय को पढ़ा जाए तो हमें भी बहुत सारा मोटिवेशन मिलेगा और हमें यह एहसास होगा कि किसी भी काम को करना असंभव नहीं है

वर्तमान समय में महाराष्ट्र के मुंबई में रहने वाली भारत की पहली महिला फायर फाइटर हर्षिनी कण्हेकर का जन्म महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था

उनकी प्रारंभिक शिक्षा महाराष्ट्र के नागपुर में ही हुई और उसके बाद उन्होंने महाराष्ट्र के नासिक में पढ़ाई की

नासिक के एक विद्यालय CDO MARRY EXTENSIVE SCHOOL  में उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा को प्राप्त किया था और उसके बाद उन्होंने साइंस स्ट्रीम में अपनी ग्रेजुएशन को पुरा किया

हर्षिनी कानेकर द्वारा अपनी साइंस ग्रेजुएशन को नासिक में स्थित अमृता बाई महिला कॉलेज से पूरा किया गया था

अपने कॉलेज के टाइम में हर्षिनी गाने के द्वारा अदर एक्टिविटीज में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया गया जैसे कि NCC और विभिन्न प्रकार के SOCIAL CAMPUS

अपनी कॉलेज ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद हर्षिनी द्वारा मास्टर्स इन बिजनेस स्टडीज यानी कि MBA में भी एडमिशन लिया गया परंतु वह किसी कंपनी में काम नहीं करना चाहती थी

हर्षिनी किसी ऐसे काम को करना चाहती थी जिसमें वह किसी को बचा सके यानी कि वह किसी को मुसीबत से बचा सके और एक हीरो के रूप में उभर सके

इसीलिए उन्होंने फायर फाइटिंग की जॉब पाने का निर्णय लिया परंतु यह इतना आसान नहीं था क्योंकि उस समय तक केवल भारत में पुरुषों को ही फायर फाइटर्स के रूप में सिलेक्ट किया जाता था

फायर फाइटर बनने के लिए हर्षिनी ने महाराष्ट्र के नागपुर में स्थित चूला नेशनल सेवा कॉलेज में एडमिशन लिया और इस कॉलेज में एडमिशन लेने वाली वह पहली महिला बनी थीं

हर्षिनी ने फायर इंजीनियरिंग साइंस में एक एडवांस लेवल का कोर्स करके उसका डिप्लोमा प्राप्त किया और इस प्रकार से वह भारत की पहली महिला फायर फाइटर बनकर उभरी

हालांकि फायर फाइटिंग में अपना करियर बनाने के लिए आपको अपने ग्रेजुएशन में साइंस सब्जेक्ट लेने की कोई बाध्यता नहीं है परंतु आपके पास फायर फाइटिंग में एक स्पेशल डिप्लोमा होना चाहिए

हर्षिनी कानेकर  अपनी पढ़ाई के साथ साथ ही अदर एक्टिविटीज को भी बहुत ज्यादा एंजॉय करती थी जैसे कि बाइक राइडिंग हो या हॉर्स राइडिंग वह इन सभी एक्टिविटीज में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती थी

2005 में भारत की पहली महिला फायर फाइटर बनकर हर्षिनी कानेकर ने 2006 में अपनी पहली जॉइनिंग गुजरात में स्थित मेहसाणा फायरप्लेस स्टेशन में ली थीं

हर्षिनी एक स्पेशल मोटरबाइकर भी हैं और उन्होंने अपने दोस्त जोकि एक स्पेशल मोटरबाइकर ही थे, प्रवीण उर शंकर से शादी की थी

हर्षिनी कानेकर के नाम एक और जबरदस्त रिकॉर्ड हैं कि उन्होंने लेह लद्दाख और कारगिल में दुनिया की सबसे ऊंची मोटर बाइक चलाने वाली सड़कों खारदुंग ला की यात्रा भी की थी

वर्तमान समय में हर्षिनी गाने पर अपनी पूरी फैमिली के साथ महाराष्ट्र के मुंबई में रह रही हैं और वे अपने प्रोफेशन से बहुत ज्यादा खुश हैं

1. NAME HARSHINI KAHANEKAR ( INDIA’S FIRST WOMAN FIREFIGHTER )
2. BIRTH PLACE NAGPUR ( MAHARASTRA )
3. HUSBAND’S NAME PARVIN URSHANKAR
4. PRIMARY EDUCATION FROM NAGPUR
5. HIGHER EDUCATION COD MARRY EXTENSIVE SCHOOL, NASHIK
6. GRADUATION IN SCIENCE AMRITA BAI WOMEN’S COLLAGE, NASHIK
7. FIRE ENGINEERING DIPLOMA FROM CHULA NATIONAL COLLAGE, NAGPUR
8. FIRST POSTING AS A FIRE FIGHTER 2006 IN MEHSANA FIREPLACE STATION, GUJRAT

 


World ki pahli mahila firefighter kaun hai

Molly Williams scaled 1

Wikipedia

अब आप यह तो जान गए होंगे कि bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai परंतु भारत की पहली महिला फायर फाइटर को जानने के बाद आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा कि World ki pahli mahila firefighter kaun hai

तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि World ki pahli mahila firefighter का नाम   मोली विलियम्स   (Molly Williams)  है

जो किअमेरिका की न्यूयॉर्क सिटी की रहने वाली थी और उन्होंने 19वीं शताब्दी में सन 1815 में विश्व की पहली महिला फायर फाइटर के रूप में नियुक्ति ली थी

मोली विलियम्स द्वारा 1818 में हुए सबसे बड़े अग्निकांड ( blizzard) के दौरान भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका दिखाई गई थी


फायर फाइटर्स कौन होते हैं – fire fighters kaun hote hai

जिस तरह से किसी भी राज्य में लॉ एंड ऑर्डर को कंट्रोल करने के लिए पुलिस होती हैं और जिस तरह से अस्पतालों में डॉक्टर और विभिन्न कर्मचारी होते हैं

उसी प्रकार से अगर किसी शहर में आगजनी या आग से संबंधित कोई घटना हो जाए तो उससे निपटने के लिए अग्निशमन कर्मचारियों की एक टीम का गठन किया जाता है और उन्हें ही फायर फाइटर्स कहा जाता है

इन फायर फाइटर्स को मुख्यता आग बुझाने के लिए और उस आग से हुए नुकसान को कम करने के लिए ही अप्वॉइंट किया जाता है


फायर फाइटर्स के मुख्यता क्या-क्या काम होते हैं – firefighters kai muky kaam kya hote hai

जब आपने यह जान ही लिया है कि bahart ki pahli mahila firefighter kaun hai तो अब आप आपको यह भी जानने की इच्छा हो रही होगी कि आखिर इन फायर फाइटर्स का क्या काम होता है और यह कौन कौन से कामों को अंजाम देते हैं

देखा जाए तो नगरपालिका अधिनियम की धारा 256 के तहत प्रत्येक नगरीय निकाय में एक अग्निशमन दल का उपस्थित रहना आवश्यक हैं, यानी कि एक फायरफइटर्स कि टीम का उपस्थित रहना जरूरी है

जब सरकार द्वारा ही इनकी मौजूदगी को अनिवार्य कर दिया गया है तो आप इनकी अहमियत को समझ सकते हैं क्योंकि यह किसी भी बड़े नुकसान को होने से बचा सकते हैं

और अगर कहीं पर आग लग जाए तो इन फायर फाइटर्स की मदद से उस आग पर काबू पाया जा सकता है और उसे फैलने से रोका भी जा सकता है क्योंकि सामान्य जनता द्वारा इतनी बड़ी भयानक आग पर काबू पाना लगभग असंभव होता है

इसके अलावा इन फायर फाइटर्स की नियुक्ति बड़ी-बड़ी सरकारी और प्राइवेट कंपनियों के पास में भी की जाती है

और साथ ही साथ ऑयल और नेचुरल गैस की कंपनियों के पास भी इनकी तैनाती की जाती है ताकि वहां पर आगजनी की घटना होने पर भी बहुत ज्यादा नुकसान ना पहुंचे


भारत में फायर फाइटर की सैलरी कितनी होती है – bharat mai firefighters ki salary kitni hai

हर्षिनी कानेकर के जीवन परिचय को पढ़ने के बाद अब शायद आपके मन में भी फायर फाइटर बनने का विचार आ रहा होगा और आप यह जानना चाह रहे होंगे कि फायर फाइटर की सैलरी भारत में कितनी होती हैं

फायर फाइटर्स की सैलरी भारत में अलग-अलग मानदंडों पर तय की जाती हैं अर्थात कि आप फायर फाइटिंग में जिस पद पर हैं उसके अनुरूप आप को सैलरी प्रदान की जाएगी

परंतु अगर आप एक फायर फाइटर के तौर पर फायर फाइटिंग की टीम को ज्वाइन करते हैं

तो आप की प्रारंभिक सैलरी लगभग 21000 से लेकर 24000 per month  के बीच में होगी और इसके अलावा आपको विभिन्न प्रकार के इंसेंटिव्स भी बीच में मिलते हैं

आप किसी प्राइवेट कंपनी के फायर फाइटर भी बन सकते हैं और आप चाहे तो गवर्नमेंट की फायर फाइटर की जॉब को भी ले सकते हैं

परंतु सरकारी फायर फाइटिंग की जॉब लेने के लिए आपको एक सामान्य सी लिखित परीक्षा और एक सामान्य सी शारीरिक परीक्षा से गुजरना होगा

जब आप फायर फाइटर्स के रूप में सरकारी सेवा से नियुक्त होकर जाते हैं तो आप की प्रारंभिक सैलरी 25000 से लेकर 28000 के बीच में होती हैं


FAQs : Bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai

सवाल : भारत की पहली महिला फायर फाइटर कौन है

भारत की पहली महिला फायर फाइटर का नाम हर्षिनी कण्हेकर है

सवाल : World ki pahli mahila firefighter kaun hai

विश्व की पहली महिला फायर फाइटर का नाम मोली विलियम्स है जो कि अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी की रहने वाली है

सवाल : हर्षिनी कानेकर का जन्म कहां हुआ था

हर्षिनी कण्हेकर का जन्म महाराष्ट्र के नागपुर में हुआ था

सवाल : फायर फाइटर्स का मुख्य कार्य क्या होता है

फायर फाइटर्स का मुख्य कार्य भीषण आग को बुझाने का होता है

सवाल : वर्तमान में भारत में फायरफाइटर्स की सैलरी कितनी है

वर्तमान में भारत में फायर फाइटर्स की सैलरी 21000 से लेकर 24000 के मध्य हैं

सवाल : क्या फायर फाइटर बनने के लिए साइंस सब्जेक्ट होना जरूरी है

नही, फायर फाइटर बनने के लिए ग्रेजुएशन में साइंस सब्जेक्ट होने का कोई प्रावधान नहीं है परंतु आपके पास फायर इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होना चाहिए

सवाल : क्या फायर फाइटर को सरकारी जॉब भी मिलती हैं

जी हां, आप एक सामान्य सी सरकारी लिखित परीक्षा और एक सामान्य सी शारीरिक परीक्षा पास करके फायर फाइटर की सरकारी जॉब को प्राप्त कर सकते हैं


Conclusion

आज के इस लेख में हमने देखा कि Bharat ki pahli mahila firefighter kaun hai, हम आशा करते हैं कि आपको आज का हमारा यह लेख बहुत ज्यादा पसंद आया होगा और इसे पढ़कर आपको बहुत सी जानकारियां प्राप्त हुई होंगी

अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने परिजनों के साथ भी जरूर शेयर करें और अपने अमूल्य comment को हमारे comment box में जरूर लिखें

ताकि आगे आने वाले समय में हम आपके लिए इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख लाते रहे और आपके ज्ञान में सकारात्मक वृद्धि करते रहे, इस लेख शुरवात से अंत तक पढ़ने के लिए आप का तहे दिल से शुक्रिया

Leave a Comment