भारत का वित्त मंत्री कौन है – Bharat ke Vitt Mantri Kaun Hai

भारत का वित्त मंत्री कौन है  वर्तमान भारत (2022) के वर्तमान वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण है जो भारत के वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के सबसे उच्च मंत्री में से एक है। Bharat Ka Vitt Mantri भारतीय अर्थव्यवस्था (Economy) का मुख्य संचालक होते है।

जिनके द्वारा हर साल पेश किया गया आम बजट (General Budget) से देश की स्थिति तय होती है। जो केंद्रीय बजट के लिए जिम्मेदार होते है। जिनका मुख्य काम संसद में प्रत्येक वर्ष केंद्रीय बजट तैयार करना और उसे देश के सामने प्रस्तुत करना होता है।

जब भारत को 1947 में अंग्रेजों से आजादी मिली थी तब से इस देश में 22 लोगों को वित्तमंत्रालय की कमान संभालने की ज़िम्मेदारी दी गई, जिसमें भारत के प्रथम वित्तमंत्री लियाकत अली खां (29 अगस्त 1946 से 14 अगस्त 1947) को बनाया गया था,

वही देश को आजादी मिलने के बाद India First Finance Minister आर के शनमुखम चेट्टी जी बने थे। भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे ज्यादा बजट पेश करने का रिकॉर्ड पूर्व वित्तमंत्री मोरारजी देसाई के नाम है।

जिन्होने अब तक के सबसे ज्यादा 10 Indian Budget संसद में पेश किए है जिनमे 8 General Budget (आम बजट) और 2 Interim Budget (अन्तरिम बजट) शामिल है। अगर भारतीय राजनीतिक पार्टी के रूप में देखी जायें तब,

भारतीय राष्ट्रीय नेशनल काँग्रेस ने अपने पार्टी के 27 बार अब तक वित्तमंत्री बनाया है, वही वर्तमान भारतीय जनता पार्टी की सरकार के मात्र 4 लोगों को ही वित्तमंत्री बनाया गया है।

अगर हम अब तक भारतीय इतिहास में सबसे बेहतरीन Vitt Mantri की बात करें, तो राष्ट्रीय काँग्रेस राजनीतिक पार्टी से संबंध रखने वालें डॉ मनमोहन सिंह के नाम शामिल है। जो अर्थशास्त्र के अच्छे जानकार है।

आप भी अगर इंटरनेट पर भारत का वित्त मंत्री कौन है –  Bharat Ka Vitt Mantri Kaun Hai से संबन्धित जानकारी सर्च कर रहें है,

तब इस ब्लॉग पोस्ट में आपको भारत के वित्तमंत्री की सूची 2022List of Finance Ministers of India की पूरी जानकारी विस्तार में प्राप्त होने वाली है

इसीलिए इस लेख को शुरवात से अंत तक जरूर पढ़े जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य में जरूर फायदा होगा

 

Bharat Ka Vitt Mantri Kaun Hai  
Bharat Ka Vitt Mantri Kaun Hai in Hindi 

 

भारत का वित्त मंत्री कौन है – Bharat Ka Vitt Mantri Kaun Hai  

वर्तमान में भारत के वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण है जो वर्ष 2019 से भारतीय वित्त मंत्रालय का कार्य संभालती हुई आ रहें है और इनका कार्यकाल वर्ष 2024 तक चलने वाली है।

इससे पहले उन्हे रक्षामंत्री (September 2017 to May 2019 ) का पद की ज़िम्मेदारी मिली थी।

नाम निर्मला सीतारमण
पिता का नाम श्री नारायणन सीतारामन
माता का नाम श्रीमती सावित्री
जन्मतिथि 18 अगस्त 1959
जन्मस्थान मदुरै (तमिलनाडु)
शैक्षिक योग्यता एम.ए.(अर्थशास्त्र)
व्यवसाय अर्थशास्त्री तथा राजनीतिक
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
मंत्रीपद वित्त मंत्री

अब तक इन्हे कई भारतीय मंत्रालय में बड़े पद पर कार्य करने का अनुभव है जिसमें प्रमुख रूप से वाणिज्य और उद्योग (स्वतंत्र प्रभार) तथा वित्त व कारपोरेट मामलों की राज्य मंत्री रह चुकी है।

इसके अलावा यह भाजपा राजनीतिक पार्टी के एक प्रवक्ता (Spokeswoman) के रूप में भी काम कर चुकी है। यह भारतीय जनता पार्टी (BJP) से संबंध रखती है।

जिनके ऊपर आम बजट तैयार करने और संसद के सामने पेश करने की ज़िम्मेदारी होती है।

जिससे इन्हे देश की अर्थव्यवस्था का मुख्य संचालक भी कहा जाता है। सरकार के राजकोषीय नीति (Treasury Policy) की सभी ज़िम्मेदारी वित्तमंत्री पर ही होता है।

Bharat ka Vitt Mantri निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) द्वारा पेश किया गया वार्षिक बजट में वह अलग-अलग डिपार्टमेंट में बजट निर्माण करती है,

जिसमें इस बात की जिक्र होती है कि उस उस वर्ष-सत्र में किस मंत्रालय और डिपार्टमेंट पर विकास कार्य के लिए क्या बजट होना चाहिए।

साथ ही देश की अर्थव्यवस्था को उस आम बजट से क्या लाभ मिलने वाला है और उनका आगे का नीति क्या होगी।

यह सभी मुख्य बातें वित्तमंत्री पद पर पदासीन मंत्री की होती है। स्वतंत्र भारत के प्रथम पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण हैं,

हालांकि इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए अतिरिक्त कार्यभार के रूप में यह मंत्रालय संभाला था। निर्मला सीतारमण भारत के 39 वें वित्तमंत्री है जो भारतीय वित्तमंत्रालय की कार्यभार संभालती हुई आ रही है और उनका कार्यकाल वर्ष 2024 तक चलने वाली है।

इनकी लोकप्रिय की बात करें तो Forbes एक निजी स्वामित्व वाली प्रकाशन एवं मीडिया कंपनी के सूची अनुसार वर्ष 2021 की दुनिया की 100 सबसे शक्तिशाली महिलाओं मे इनका नाम भी शामिल किया गया है

और उन्हे दुनिया के 37वां सबसे शक्तिशाली महिला का दर्जा मिला है।

उन्होंने 5 जुलाई 2019 को भारतीय संसद में अपना पहला बजट पेश किया और 1 फरवरी 2020 को केंद्रीय बजट 2020-21 पेश किया।

साथ ही कोरोना वायरस महामारी (COVID-19) विश्व पर आई आपदा के दौरान भी इन्होने भारतीय अर्थव्यवस्था को अच्छी-ख़ासी संभाल कर रखा।

 

भारत का वित्त मंत्री कौन है 

Nirmala Sitharaman भारत के वित्तमंत्री है जिनके द्वारा इस पद पर पदासीन होने के बाद उनके द्वारा बनाई गई केंद्रीय आम बजट को हर नई वित्तीय वर्ष में 1 अप्रैल से शुरू होकर आगामी वर्ष के 31 मार्च को समाप्त होता है।

तो वही प्रत्येक वर्ष 1 फरवरी को केंद्रीय बजट संसद में इनके द्वारा या जो भी इस पद के मंत्री होते है उनके द्वारा पेश किया जाता है। वित्त विधेयक और नियुक्ति विधेयक पेश होने से पहले इसे लोकसभा से सांसद द्वारा दिये गए वोटो से पारित किया जाता है।

 

भारत के वित्तमंत्री की सूची (2022) List of Finance Ministers of India

जैसा की आपने पहले पढ़ा कि वर्ष वर्ष 1945 से वर्ष 2019 तक भारत के अलग-अलग राजनीतिक पार्टियों से ताल्लुक रखने वालें 22 लोगों को भारत का वित्तमंत्री (Finance Minister of India) बनाया गया है।

देश को आजादी मिलने से पहले लियाकत अली खां (29 अगस्त 1946 – 14 अगस्त 1947) को पहला वित्तमंत्री बनाया गया था।

तो वही देश को आजादी मिलने के बाद 1947 में आर के शनमुखम चेट्टी (15 अगस्त 1947 – 17 अगस्त 1948) को स्वतंत्र भारत का पहला Vitt Mantri नियुक्त किया गया था।

नीचे All Finance Ministers of India List 2022 दिया गया है, जिसे एक बार जरूर पढ़ लीजिये

नाम कार्यकाल राजनीतिक पार्टी
लियाकत अली खां 29 अगस्त 1946 – 14 अगस्त1947 मुस्लिम लीग
आर के शनमुखम चेट्टी 15 अगस्त 1947 – 17 अगस्त1948 इंडियन नेशनल कांग्रेस
जॉन मथाई 22 सितंबर 1948 – 1 जून 1950
सीडी देशमुख 1 जून 1950 – 1 अगस्त1956
पंडित जवाहरलाल नेहरू 1 अगस्त 1956 – 30 अगस्त 1956
टी टी कृष्णामचारी 31 अगस्त 1957- 31 दिसंबर 1958
मोरारजी देसाई 22 मार्च 1958 – 31 अगस्त 1963
टी टी कृष्णामचारी 31 अगस्त 1963 -31 दिसंबर 1965
सचिन्द्र चौधरी 1 जनवरी 1966 – 13 मार्च 1967
मोरारजी देसाई 13 मार्च 1967 – 16 जुलाई 1969
इन्दिरा गांधी 16 जुलाई 1969 – 27 जून 1970
यशवंतराव चव्हाण 27 जून 1970 –  10 अक्टूबर 1974
सी सुब्रमण्यम 10 अक्टूबर 1974 – 24 मार्च 1977
हरी भाई एम पटेल 26 मार्च 1977 – 24 जनवरी 1979 जनता पार्टी
चौधरी चरण सिंह 24 जनवरी 1979 – 16 जुलाई 1979
हेमंबती नन्दन बहुगुणा 28 जुलाई 1979 – 19 अक्टूबर 1979 इंडियन नेशनल कांग्रेस
रामास्वामी वेंकटरमण 14 जनवरी 1980 – 15 जनवरी 1982
प्रणव मुखर्जी 15 जनवरी 1982 – 31 अक्टूबर 1984
बी पी सिंह 31 दिसंबर 1984 – 24 जनवरी 1987
राजीव गांधी 24 जनवरी 1987 – 26 जुलाई 1987
नारायण दत्त तिवारी 25 जुलाई 1987 – 25 जून 1988
शंकराराव भाव चौहान 25 जून 1988 – 2 दिसंबर 1989
मधु दंडवते 2 दिसंबर 1989 – 19 नवंबर 1990 जनता पार्टी
यशवंत सिन्हा 10 दिसंबर 1990 – 21 जून 1991 समाजवादी जनता पार्टी
डॉ मनमोहन सिंह 21 जून 1991 – 16 मई 1996 इंडियन नेशनल कांग्रेस
जसवंत सिंह 16 मई 1996 – 1 जून 1996 जनता पार्टी
पी चिदंबरम 1 जून 1996 – 21 अप्रैल 1997 तमिल मानीला कांग्रेस
डॉ इंद्रा कुमार गुजराल 21 अप्रैल 1997 – 1 मई 1997 जनता दल (संयुक्त मोर्चा)
पी चिदंबरम 1 मई 1997 – 19 मार्च 1998 तमिल मानीला कांग्रेस
यशवंत सिन्हा 19 मार्च 1998 – 1 जुलाई 2002 भारतीय जनता पार्टी
जसवंत सिंह 1 जुलाई 2002 – 22 मई 2004 इंडियन नेशनल कांग्रेस
पी चिदंबरम 22 मई 2004 – 30 नवंबर 2008
डॉ मनमोहन सिंह 30 नवंबर 2008 – 24 जनवरी 2009
प्रणव मुखर्जी 24 जनवरी 2009 – 26 जून 2012
डॉ मनमोहन सिंह 26 जून 2012 – 31 जुलाई 2012
पी चिदंबरम 31 जुलाई 2012 – 26 जुलाई 2014
अरुण जेटली 26 मई 2014 –  23 जनवरी 2019 भारतीय जनता पार्टी
पीयूष गोयल 23 जनवरी 2019 – 30 मई 2019
निर्मला सीतारमण 2019 – वर्तमान

इस लिस्ट में आप देख सकते है कि भारत का वित्तमंत्री एक व्यक्ति को कई बार बनाया गया है तो वही कुछ व्यक्ति प्रधानमंत्री होते हुये भी वित्तमंत्रालय की निगरानी खुद से रखते थे, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू, इन्दिरा गाँधी और राजीव गाँधी शामिल है।

अगर इन सभी को एक साथ शामिल कर लिया जाएँ तो अब तक स्वतंत्र भारत में पूरे 38 बार Indian Finance Ministry की कमान एक व्यक्ति को कई बार तो वही एक व्यक्ति को एक ही बार इसके पद पर बैठाया गया है।

 

सबसे अच्छा वित्तमंत्री – Best Finance Minister of India

स्वतंत्र भारत के सबसे अच्छा वित्तमंत्री के रूप में डॉ मनमोहन सिंह का नाम सबसे पहले आता है, जिन्हे तीन बार वित्तमंत्री बनाया गया था जो राष्ट्रीय कांग्रेस राजनीतिक पार्टी से प्रेरित है और यह भारत के प्रधानमंत्री भी रह चुके है।

इन्हे Sabse Achchha Vitt Mantri के रूप में इस लिए भी जाना जाता है क्योंकि वर्ष 1991 में भारत के अर्थव्यवस्था में काफी उदासीन थी और देश के पास मात्र 15 दिनो का ही रुपया देश चलाने के लिए बची थी, जिसके वावजूद इन्होने अपने नीतियों से विदेशी मुद्रा भण्डार और जीडीपी में वृद्धि लाने का काम किये।

इसके अलावा इन्होने कई ऐसे महत्वपूर्ण कार्य किये है, जिससे भारत का विदेशी और घरेलू व्यापार बढ़ने से देश की इकॉनमी में काफी सुधार लाई गई है जिसमें उनके द्वारा लाई गई “लूक ईस्ट पॉलिसी” है जिसके बाद देश में व्यापार बढ़ने से अर्थव्यवस्था को मजबूती मिली है।

 

भारत के सबसे खराब वित्त मंत्री – Worst Finance Minister of India

Quora के अनुसार देश की वर्तमान स्थिति को देखते हुये भारत के सबसे घटिया वित्त मंत्री के रूप में निर्मला सीतारमण को जाना जाता है, क्योंकि इनके कार्यकाल में महंगाई काफी बढ़ गई है और इन्होने अब तक जीतने भी संसद में बजट पेश किए है वह लॉन्ग टर्म के लिए है,

जिससे आम जनता को उस वित्तीय वर्ष में लाभ से अधिक उनके जेब से ही पैसे जा रहें है। तो वही कोरा के अनुसार पूर्व वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी और जसवंत सिंह को भी अब तक के सबसे खराब Finance Minister of India की सूची में रखा गया है।

 

FAQ’s – भारत के वित्त मंत्री विकिपीडिया

सवाल : भारत की प्रथम महिला वित्त मंत्री कौन थे

निर्मला सीतारमण भारत की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री हैं, हालांकि इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए अतिरिक्त कार्यभार के रूप में यह मंत्रालय संभाला था। इस तरह भारत के वर्तमान वित्त मंत्री ही भारत के प्रथम महिला वित्त मंत्री है।

सवाल : स्वतंत्र भारत की पहली वित्त मंत्री कौन थे

आर के शनमुखम चेट्टी स्वतंत्र भारत के प्रथम वित्त मंत्री थे, जिनका कार्यकाल मात्र 15 अगस्त 1947 – 17 अगस्त1948 तक ही चली थी। जो राष्ट्रीय काँग्रेस पार्टी से संबंध रखते थे। जिसके बाद इन्हे इस पद से हटकर वित्त मंत्रालय का मंत्री जॉन मथाई को नियुक्त किया गया था।

सवाल : स्वतंत्र भारत की पहली महिला मंत्री कौन थे

राजकुमारी अमृत कौर आजाद भारत की पहली भारतीय महिला थीं, जिन्हें केंद्रीय मंत्री बनने का मौका मिला। वे जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में गठित पहले मंत्रिमंडल में बतौर कैबिनेट मंत्री शामिल थीं। जो वर्ष 1957 तक स्वास्थ्‍य मंत्रालय भारत सरकार का कार्यभार संभाली थी।

सवाल : वित्त मंत्री सीतारमण का मोबाइल नंबर

भारत के किसी भी मंत्री से मिलने से पहले उनके मंत्रालय में अपॉइंटमेंट करना होता है साथ ही किसी भी केन्द्रीय या राज्यमंत्री का मोबाइल नंबर सार्वजनिक नही किया जाता है, लेकिन फिर भी आप उनके मंत्रालय के 080-26548557 नंबर पर फोन करके अधिकारियों से पहले बात कर सकते है।

सवाल : वित्त मंत्री का क्या काम होता है

भारत के वित्त मंत्री का मुख्य काम प्रत्येक वार्षिक वर्ष के 1 फरवरी को संसद में आम बजट तैयार कर पेश करना होता है, जिसमें वह अलग-अलग डिपार्टमेंट में विकास कार्य के लिए बजट जारी करते है। जिससे इस तरह के मंत्री को अर्थव्यवस्था का मुख्य संचालक कहा जाता है।

सवाल : भारत के वित्त राज्य मंत्री कौन है (2022)

जब बीजेपी सरकार एक बार फिर से सत्ता में वर्ष 2019 में आया था तब वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर को बनाया गया था, लेकिन इसमे बदलाव कर वर्तमान में पंकज चौधरी को भारत का नए राज्य वित्त मंत्री बनाया गया है।

 

Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने भारत का वित्त मंत्री कौन है – Bharat Ka Vitt Mantri Kaun Hai के बारें में जाना। आशा करते है आप List of Finance Ministers of India 2022 की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

अगर आपका इससे संबन्धित किसी भी तरह का सवाल है तब नीचे कमेन्ट में पूछ सकते है जिसका जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी शेयर करना चाहिए तो इसे सोश्ल मीडिया पर सबके साथ इसे साझा अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस लेख को पढ़ने करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

 

Leave a Comment