संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां है – Sanyukt Rashtra Sangh Ka Mukhyalay Kahan Hai

संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां है : आप सब सयुक्त राष्ट संघ के बारे में जानते ही होंगे जिसे हम (United Nations organisation) यूनाइटेड नेशंस ऑर्गेनाइजेशन के नाम से जानते हैं।

आज हम इस आर्टीकल के माध्यम से सयुक्त राष्ट संघ का मुख्यालय कहा है साथ ही उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प जानकारी के बारे में बताएंगे।

जैसा कि आप जानते है सयुक्त राष्ट संघ यह एक ऐसा गंठबंधन है जो अंतरष्ट्रीय मुद्दे पर इंटरफ़ेस करता है। आपको बता दें सयुक्त राष्ट संघ का उद्देश्य विश्व के सभी देशों पर शांति और अभी देशो की बीच संतुलन बनाए रखना का कार्य करता है।

 

Sanyukt Rashtra Sangh Ka Mukhyalay Kahan Hai
Sanyukt Rashtra Sangh Ka Mukhyalay Kahan Hai

 

संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां स्थित है

जैसा कि हमारे भारत मे शांति बनाए रखने के लिए हर तरह के कानून व्यवस्था के लिए नियम बनाए गए हैं

वैसे ही विश्व के सभी देशों को सुरक्षित रखना,आपातकाल स्थिति में दूसरे देशों की मदद करने के लिए इसका निर्माण किया गया है।

विश्व के सभी देशों के सहयोग से लगभग 24 अक्टूबर 1945 को सयुक्त राष्ट संघ के भवन का निर्माण किया गया है। जिसका मुख्यालय अमेरिका में सबसे स्मार्ट सिटी न्यूयॉर्क में स्थित हैं।

जो काफी आलीशान और अद्भुत इंटीरियर डिजाइनर से बना हुआ एक बड़ा भवन है। साथ ही आपको बता दें अमेरिका के लोग सयुक्त राष्ट संघ को काफी मानते हैं

और किसी भी तरह की देश मे मुसीबत या आफत आती है तो सयुक्त राष्ट संघ का दरवाजा मदद के लिए सबसे पहले खुलता है

लेकिन एक और बात आपको बता दें सयुक्त राष्ट संघ एक या दूसरे देश मे चल रहे विवाद हो या बड़ी मुसीबत, या सुरक्षा हेतु किसी भी बड़े मुद्दे पर सहायता करता है

क्योंकि बाकी समस्याओं के लिए हर एक देश मे अलग कानून व्यवस्था बनाए गए हैं। अब आपको ये तो पता चल गया होगा की संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां है आगे और भी दिलचस्प बातें आपको बताने वाले हैं।

 

संयुक्त राष्ट्र संघ का अध्यक्ष कौन है

अमेरिका के न्यूयोर्क में स्थित सयुक्त राष्ट संघ के अध्यक्ष जिसे महासचिव के तौर पर जाने जाते है। जो अंतरष्ट्रीय मुद्दों को सुलझाने की जिम्मेदारी होती हैं।

1 जनवरी 2017 से सयुक्त राष्ट संघ का कार्यकाल संभालने वाले हालही के अध्यक्ष पुर्तगाल के रहनेवाले एंटोनियो गुटेरेश है जो पूरे भवन की जिम्मेदारी उठा रहे है।

साथ ही अमेरिका और दूसरे देशों से जुड़ी छोटी बड़े मुद्दो पर अभ्यास कर समस्या का निराकरण लाने का बड़ा योगदान दे रहे है।

अगर इनके पावर की बात करे तो बाकी देशों के बड़े महासचिव की तुलना में काफी ज्यादा होती है ऐसा इसलिए क्योंकि विश्व मे आनेवाली बड़ी आफत और ख़तरों से निपटने का सुझाव यह रखते हैं और सयुक्त राष्ट संघ द्वारा इस समस्या को हल किया जाता है।

 

संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम अध्यक्ष कौन थे

बेल्जियम के रहने वाले और सालो से विदेश मंत्री की जिम्मेदारी निभाने वाले पॉल-हेनरी स्पाक संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम अध्यक्ष थे जिन्होंने तारीख 16 जनवरी 1946 को उनकी बहादुरी और ईमानदारी को देखते हुए सयुक्त राष्ट संघ में प्रथम अध्यक्ष का पद मिला।

आपको बता दे पॉल-हेनरी स्पाक का जन्म साल 1889 में ब्रुसेल्स में हुआ है। उन्होंने अपने राजनीतिक कार्यकाल में कई मुसीबतों का सामना किया है।

इतना ही नही वह तीसरे विश्व युद्ध के दौरान भी विदेश मंत्री बने थे। बाद में उन्होंने पेरिस जैसे बड़े शहरों में शांति सम्मेलन और निष्ठा के साथ  अपने देश का प्रतिनिधित्व किया। तो दोस्तों संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम अध्यक्ष पॉल-हेनरी स्पाक थे

 

वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ के कितने सदस्य हैं

आप जानते हैं पूरी दुनिया मे हर देश मे तेजी से बढ़ने वाली मुसीबतें कई बार काफी खतनाक साबित होती हैं

इसीलिए इन सारी मुसीबतों का हल निकालना और उसका डट कर सामना करने के लिए 1945 में स्थापित किए गए सयुक्त राष्ट एक संगठन है

जिनमे कम से कम 194 सदस्यों के राज्यो से बना मजबूत और निडर सदस्यों का गठन किया है।

और एक जरुरी बात सयुक्त राष्ट संघ एक ऐसी जगह है जहाँ विश्व के सभी देशों के सभी राष्ट और प्रधानमंत्री एक साथ इकट्ठा होते है चाहे एक देश दूसरे देश का दुश्मन ही क्यों न हो, लेकिन इस भवन में सब की राय रखने का अधिकार दिया जाता हैं।

 

संयुक्त राष्ट्र संघ का उद्देश्य क्या है

जभी किसी देश में राजनीतिक या अन्य गुनाहित मुसीबत, क्राइम  समस्या, कानून व्यवस्था की बात होती है तब अपने देश मे ही इसका रास्ता निकाले जाते हैं | और उन विषयों पर अभ्यास कर के इसको हल किया जाता है

लेकिन जब पूरे विश्व मे स्थित किसी भी देश पर आतंकी हमला होता है या कुदरती आफत आती हैं तब सयुक्त राष्ट संघ आगे आता है, और देश की मदद करता है।

जैसे कि एक दूसरे का दूसरे देश मे हमला या अंतराष्ट्रीय कानून व्यवस्था को नुकसान होने का खतरा, ऐसी कई मुसीबतों को हल करने के लिए सयुक्त राष्ट संघ अपनी जिम्मेदारी निभाने के लिए तत्पर रहता है।

 

यूनाइटेड नेशंस ऑर्गेनाइजेशन के मानव अधिकार

मानव अधिकार के लिए कई कठिन कानून व्यवस्था हर देश मे बनाए गए हैं जिनमे महिलाओं के अधिकार और अन्य समाज या सोसायटी में शांति बनी रहे उसके लिए भी अधिकार हर देश मे अपने तरीकों से उनका गठन किया है

लेकिन तीसरे विश्व के बाद जिस तरह का माहौल विश्व मे सजा उसके बाद सयुक्त राष्ट संघ द्वारा अलग कदम उठाया गया है मानव की रक्षा के लिए कठिन अधिकार नियंत्रण करने का फैसला किया

नीचे हमने मुख्य मानव अधिकार जो सयुक्त राष्ट द्वारा रचा गया उसके बारे में बताया है

  • जातीय भेदभाव संसद का निर्माण (caste discrimination parliament)
  • ट्रेवल कर्मचारी संसद (Overseas Employees Parliament)
  • मानव अधिकार संसद (human rights parliament)
  • आर्थिक व्यवस्था और देश के हर सामाजिक और सांस्कृतिक के लिए अपने अधिकारों का संसद (Parliament of Economic Social and Cultural Rights)
  • महिला या बेटियों के रक्षा करने के किए संसद का गठन किया (discrimination against women)

ऐसे कई अधिकार सयुक्त राष्ट संघ द्वारा बनाए गए हैं जिनसे विश्व के सभी देश मे शांति और कामना बनी रहे।

 

सयुक्त राष्ट संघ की शांति रक्षा सेना का कार्य

यूनाइटेड नेशंस ऑर्गेनाइजेशन (United Nations organisation) द्वारा शांति रक्षा सेना  जिसे Peacekeeping force कहते है

यह विश्व के सभी देशों में किसी भी मुसीबत पर भेजे जानी वाली सेना है। जैसा कि अगर किसी देश मे लड़ाई हो रही है या भयंकर हिंसा हो रही है।

ऐसी जगहों पर जाकर शांति रक्षा सेना द्वारा हिंसा या लड़ाई को कंट्रोल कर शांति स्थापित करने का कार्य करती हैं जो आज के समय मे काफी महत्वपूर्ण सेना मानी जाती हैं। यह सेना कनाडा और फ्रांस जैसे शहरों में हुए हिंसक घटनाओं में अपनी फर्ज बचा चुकी है।

 

सयुक्त राष्ट का इतिहास 

1929 में जब पूरा विश्व तीसरे युद्ध का सामना कर रहा था तब सभी राष्ट पर काफी बड़ा प्रभाव पड़ा था।

उस समय सयुक्त राष्ट संघ का गठन किया और उसकी सेना तैयार की गई जिनसे विश्व मे बढ़ते युद्ध और तानाशाही को खत्म किया जाए।

लेकिन आज भी हम सब जानते हैं विश्व के हर एक देश दूसरे देश से उलझने को तैयार रहता है ऐसे में आज भी सयुक्त राष्ट संघ की उतनी ही भूमिका रही है जो उनका गठन किया तब रही थी।

जब पहला विश्व युद्ध हुआ तब लिंग ऑफ नेशन की स्थापना हुए उसके बाद दूसरे देशों के साथ लड़ाई और हिंसा को रोकने के लिए यह संगठन काफी निष्फल रहा।

उसके बाद 1944 में अमेरिका, चीन ब्रिटेन और वाशिंगटन जैसे देशों के बीच बड़ी बैठक हुई और 1945 में पचास से ज्यादा देशो के बीच घोषणा पत्रों की शर्तों को ध्यान में रखते हुए सयुक्त राष्ट संघ का निर्माण किया गया।

आज के समय मे सयुक्त राष्ट संघ में कुल 194 सदस्य  है। साथ ही इनमे राष्ट्रीय स्वतंत्रता को ध्यान में रखते हुए बढ़ोतरी होने लगी है।

साथ ही आपको बता दें सयुक्त राष्ट संघ द्वारा  विश्व के सभी देशों को चलाने के लिए उन देशों की अर्थव्यवस्था और क्षमता को ध्यान में रखते हुए योगदान तय किया जाता है जिनमे सबसे बड़ा योगदान विश्व के सुप्रसिद्ध देश अमेरिका का रहा है

 

संयुक्त राष्ट्र संघ के मुख्य अंग कौनसे है

आप को हमने संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां है उसके बारे में बताया साथ ही अन्य दिलचस्प बातें भी बताए आगे आपको सयुक्त राष्ट संघ के मुख्य अंगों के बारे में जानना भी आपके लिए बेहद जरूरी है  सयुक्त राष्ट संघ के कुल छह अंग है। जिनकी जानकारी हमने नीचे दिए हैं।

  • सुरक्षा परिषद (Security council) : यह अंग अंतराष्ट्रीय सुरक्षा और शांति बनाए रखने के किए सयुक्त राष्ट का मुख्य अंग माना जाता हैं। जिनमे कुल पद्रह सदस्य हैं।
  • प्रन्यास परिषद (Trusteeship council): इस अंग के लिए चीन,ऑस्ट्रेलिया,न्यूजीलैंड,ब्रिटेन जैसे देशों को जिम्मेदार दे रखी है इनमे शामिल देशो की सुरक्षा हेतु इस अंग का इस्तेमाल किया जाता हैं।
  • आर्थिक और सामाजिक परिषद (Economic and social council) : दोस्तो अंग के सदस्यों को कार्यकाल तीन साल का ही होता है दूसरे साल नए सदस्यों को शामिल किया जाता है। हालही में इस अंग में 55 सदस्य हैं।
  • महासभा (General assembly): पूरे विश्व में लागू होने वाला सयुक्त राष्ट संघ का अंग महासभा को माना जाता हैं। इस अंग द्वारा महासचिव, महा अध्यक्ष का चयन किया जाता हैं।
  • सचिवालय (Secretariat council): इस अंग को सयुक्त राष्ट संघ का Administrative अंग माना जाता हैं। इस सचिवालय में कुल दश हजार से ज्याफ कर्मचारी काम करते है।
  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (international Court of Justice): इस अंग की मुख्य भाषा फ्रेंस और अंग्रेजी हैं। जिनका न्यायालय हेग नीदरलैंड में है। आपको बता दें इस न्यायालय की खास बात यह है कि न्यायाधीश को अपनी मर्जी से अध्यक्ष और उपाध्यक्ष चुनने का अधिकार होता हैं।

 

Conclusion

उम्मीद करते है आप को संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहां है इसके बारे में सटीक जानकारी प्राप्त हूई होगी, आज के लेख में हम ने Sanyukt Rashtra Sangh Ka Mukhyalay Kahan Hai सहित संयुक्त राष्ट्र संघ का अध्यक्ष कौन है, संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रथम अध्यक्ष कौन थे, जैसे अन्य सभी सवालो का जवाब विस्तार में जानने की कोशिश की है

यदि अभी भी आप को संयुक्त राष्ट्र संघ के मुख्यालय संबंधित कोई सवाल मन में होगा तो आप निचे कमेंट कर के पूछ सकते है जिसका हम जरूर जल्द से जल्द रिप्लाई देने की कोशिश करेंगे , इस लेख को शुरवात से अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

Leave a Comment