Gud ko English Mein Kya Kahate Hain

आज का हमारा विषय भी काफी रोचक रहने होने वाला है जहा हम Gud ko English Mein Kya Kahate Hain और इसके साथ ही गुड़ संबंधित वे सभी जानकारियां जानने की कोशिश करेंगे जिसके बारे में शायद ही आप को पता हो

हम सभी भारतीय अपने घरेलू उपयोग में बहुत बड़ी मात्रा में मीठी चीजों का इस्तेमाल करते हैं, और उनमें भी जो मीठी चीज सबसे ज्यादा इस्तेमाल होती हैं वह है गुड

इतनी ज्यादा मीठी चीजों का प्रयोग करने के कारण ही भारत की राजधानी नई दिल्ली को ‘द कैपिटल ऑफ द डायबिटीज’ के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि यहां पर सर्वाधिक शुगर के मरीज पाए जाते हैं।

हम भारतीय लोगों द्वारा गुड़ को बहुत सारी मिठाइयां बनाने में इस्तेमाल किया जाता है और खास तौर पर इसका इस्तेमाल सर्दियों में बहुत ज्यादा किया जाता है क्योंकि यह शरीर में गर्मी उत्पन्न करने का कार्य करता है।

लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि अंग्रेजी में गुड को क्या कहा जाता है, अगर नहीं तो आज के इस लेख को शुरवात से अंत तक जरूर पढ़े

जहा हम आप के साथ गुड़ को इंग्लिश में क्या कहते हैं इसके बारे में विस्तार में जानकारी साझा करने की कोशिश करेंगे

इसके अलवा गुड़ के फायदे नुकसान सहित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी शेयर करने को कोशिश करेंगे जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य में जरूर फायदा होगा

 

Gud ko English Mein Kya Kahate Hain
Gud ko English Mein Kya Kahate Hain

 

Gud ko English Mein Kya Kahate Hain

 गुड़ को अंग्रेजी में जैगरी ( jaggery ) कहा जाता है। 

यह मुख्यता गुड़ का अंग्रेजी अनुवाद माना जाता है। अलग-अलग भाषाओं में इस गुड के अलग-अलग नाम भी हो सकते हैं।

यह अंग्रेजी अनुवाद गुड के लिए कई बार विवादित माना जाता है क्योंकि कई सारे अंग्रेजी भाषी देशों में इसे सुगरकेन के नाम से भी जाना जाता है जबकि भारत में शुगर केन के नाम से गन्ने को जाना जाता है।

इस कारण से अंग्रेजी में गुड़ के दो अनुवाद हो सकते हैं या तो जैगरी या फिर सुगरकेन

परंतु जो सर्वाधिक मान्यता प्राप्त अंग्रेजी अनुवाद हैं वह जैगरी ही हैं। इस कारण से यही अंग्रेजी अनुवाद गुड़ के लिए सही माना जाएगा।

 

संस्कृत में गुड़ को क्या कहा जाता है 

हमने यह तो देख लिया कि गुड़ को अंग्रेजी में जैगरी कहते है, परंतु क्या आप यह जानते हैं कि संस्कृत में गुड़ को क्या कहते है, अगर नहीं तो हम आपको बताने वाले हैं, संस्कृत में गुड क्या कहते है

हम सभी जानते हैं कि हिंदी की मातृभाषा के रूप में संस्कृत को माना जाता है अर्थात की संस्कृत के अधिकतर शब्दों का हूबहू इस्तेमाल हिंदी में किया जाता है।

अब आप सोच रहे होंगे कि जब हिंदी में जैगरी को गुड कहा जाता है तो संस्कृत में भी इसे यही नाम दिया गया होगा तो यही सत्य है।अत: गुड को संस्कृत में गुड ही कहा जाता है।

 

उर्दू में गुड़ को क्या कहा जाता है 

उर्दू भाषा भी संस्कृत की तरह ही बेहद प्राचीन भाषा मानी जाती हैं और अधिकतर विश्व के मुस्लिम राष्ट्रों में बहुतायत में बोली जाती हैं।

जो हिंदी भाषा के शब्द हैं वह उर्दू भाषा में जाकर के परिवर्तित भी हो जाते हैं परंतु उर्दू भाषा के कुछ ऐसे शब्द हैं जिन्हें हूबहू हिंदी में अपना लिया गया।

इसे उर्दू में बटि या बेली के नाम से जाना जाता है। परंतु उर्दू भाषा में गुड़ बनाने की विधि को अलग प्रकार से बताया गया है।

इसके अनुसार खजूर के रस को पका कर गुड़ का निर्माण किया जाता है।

 

गुड बनाने का इतिहास 

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि बहुत सारे मीठे पकवानों में शक्कर के अलावा हुडका बहुतायत में प्रयोग किया जाता है परंतु क्या आप इसके इतिहास के बारे में जानते हैं।

क्या आप जानते हैं गुड बनाने की शुरुआत कब से हुई थी और इसे सबसे पहली बार कहां बनाया गया था और कब बनाया गया था।

अगर आप यह नहीं जानते तो आज के इस लेख में हम यही जानने वाले हैं। इस गुड बनाने का इतिहास भी गन्ने के इतिहास से जुड़ा हुआ है क्योंकि बिना किसी गन्ने के इसका उत्पादन नहीं किया जा सकता है।

तो गुड़ बनाने के इतिहास को जानने से पहले हमें गन्ने के इतिहास को जानना होगा।

आज से लगभग 8000 साल पहले गन्ने की खेती की शुरुआत की गई थी और यह मुख्यता अफ्रीकी प्रायद्वीप के पश्चिमी देशों में शुरू की गई थी परंतु धीरे-धीरे या 800 ईसा पूर्व तक भारत में आ पहुंचा।

जब भारत में गन्ने की खेती बहुतायत में की गई तो सबसे पहले यहां पर शक्कर को बनाने की शुरुआत की गई थी और आजादी से पहले तक यहां पर बहुत सारी शक्कर की बड़ी-बड़ी मिले भी स्थित थी।

इसी शक्कर को बनाने के साथ ही विश्व में खुद को बनाने की प्रथा भी शुरू हुई। इस गुड को बड़ी-बड़ी भेलियो के रूप में बनाया जाता था।

इस प्रकार से इस गुड को सबसे पहले अफ्रीकी प्रायद्वीप में बनाया गया था उसके बाद यह भारतीय प्रायद्वीप में भी आ गया।

 

गुड खाने के फायदे 

गुड खाने के बहुत सारे फायदे हमें बताए जाते हैं परंतु उनमें से कौन-कौन से सत्य हैं और कौन-कौन से गलत इसकी जानकारी हमें नहीं रहती हैं। तो आज हम आपको वास्तविकता में वह फायदे बताने वाले हैं जो गुड़ खाने से होते हैं।

1) पहला फायदा यह है कि अगर आपको पाचन संबंधित किसी प्रकार की समस्या है तो गुड आपके लिए वरदान के रूप में साबित होगा।

आप इस के कुछ टुकड़े को खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद यदि सेवन करते हैं, तो आपको पाचन संबंधी किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा और खास तौर पर यदि आपको अपने पेट में गैस बनने की समस्या हो तो आपके लिए या बेहद फायदेमंद सिद्ध होगा।


2) दूसरा फायदा यह है कि यदि आपको सर्दी या जुखाम की समस्या है तो भी आप इस गुड का सेवन कर सकते हैं जो कि आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

जैसा कि हम जानते हैं गुड़ की तासीर गर्म होती हैं इस कारण से यह में सर्दी और जुकाम में बेहद मदद करता है। आप इसका सेवन चाय या दूध के साथ मिलाकर भी कर सकते हैं या फिर आप इसका काढ़ा बना कर भी प्रयोग कर सकते हैं।


3) तीसरा फायदा यह है कि यदि आपको गले की आवाज में किसी प्रकार की समस्या है अर्थात कि आप को गले में खराश की समस्या है तो भी आप गुड़ का सेवन करके इसे दूर कर सकते हैं।

आप यदि गुड़ का सेवन गर्म पानी के साथ करते हैं तो आपको गले की समस्याओं से निजात मिलेगा साथ ही इससे आपकी आवाज भी मधुर और सौम्य हो जाएगी।

बहुत सारे गायकों द्वारा भी काली मिर्च के साथ में गुड़ का सेवन किया जाता है ताकि उनकी आवाज सौम्य और मधुर बनी रहे।


4) चौथा फायदा यह है कि अगर आप जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो आपको गुड इससे निजात दिला सकता है। सर्दियों में आपको जोड़ों के दर्द की समस्या ज्यादा होती होंगी जिस कारण से कई बार बड़ी उम्र के लोगों का चलना फिरना तक भी मुश्किल हो जाता है।

अगर यह गुड़ का सेवन करें तो इससे इन्हें काफी हद तक फायदा होगा और यह जोड़ों के दर्द से परेशान नहीं होंगे।

इसकी तासीर गर्म होने के कारण यह शरीर में गर्मी उत्पन्न करता है, जिससे कि जोड़ों के दर्द मैं राहत मिलती हैं।


5) पांचवा फायदा यह है कि अगर आप भी चमकती दमकती त्वचा चाहते हैं तो आपको भी गुड का सेवन रोजाना खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद करना चाहिए। गुड में बहुत अधिक मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो

हमारी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं।इसका सेवन करने से हमारी स्किन में मौजूद बहुत सारी गंदगी भी बाहर निकल जाती हैं जो कि गर्मी के कारण होता है।


6) छठा फायदा यह है कि यदि आप की स्मरण शक्ति कमजोर हैं यानी कि आप किसी भी चीज को बहुत जल्दी याद नहीं कर पाते हैं तो भी आपको गुड़ का सेवन रोजाना करना चाहिए।

रोजाना खाना खाने के बाद गुड़ का सेवन करने पर आप यह पाएंगे कि आप की स्मरण शक्ति अच्छी हो रही है और आप चीजों को बहुत आसानी से याद कर पा रहे हैं। इस कारण से बहुत सारे विद्यार्थियों द्वारा भी खाना खाने के बाद में गुड़ का सेवन किया जाता है।


7) सातवां फायदा विशेषकर महिलाओं को है जो कि मासिक धर्म को लेकर बेहद ज्यादा परेशान रहती हैं। अगर आप एक महिला हैं और आप रोजाना गुड़ का सेवन करती हैं तो आपको मासिक धर्म से संबंधित किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

तो गुड़ खाने के लिए वह प्रमुख फायदे हैं जो आपको जानना बेहद जरूरी थे था कि आप भी अपनी रसोई घर में पड़े छोटे से गुड को खाकर बहुत सारी बीमारियों से बचे रह सकते हैं।

 

गुड खाने के नुकसान 

हम जानते हैं कि प्रत्येक सिक्के के दो पहलू होते हैं उसी प्रकार से गुड़ खाने के कुछ फायदे भी हैं तो इसके सेवन करने के कुछ नुकसान भी हैं।

अब हम देखने वाले हैं कि बहुत अधिक मात्रा में गुड़ खाने से आपको कौन-कौन से नुकसान हो सकते हैं और किस प्रकार का प्रभाव आपके शरीर पर पड़ सकता है।

1) पहला नुकसान यह है कि आप बहुत ज्यादा गुड़ का सेवन यदि गर्मी में करते हैं तो आपके शरीर में बहुत ज्यादा गर्मी उत्पन्न हो जाएगी और आपको इससे बहुत बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

शरीर में बहुत ज्यादा गर्मी होने के कारण आपको कई सारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जैसे कि आंखों की समस्या या पेट की समस्या या मस्तिष्क की समस्या।

अगर हम देखे तो गुड़ की तासीर बहुत ज्यादा गर्म होती हैं जिस कारण से इसका सेवन केवल सर्दियों में ही बहुत ज्यादा किया जाना चाहिए ना कि गर्मियों में।


2) दूसरा नुकसान या है कि अगर आप बहुत अधिक मात्रा में गुड़ का सेवन करते हैं तो आपको शुगर हो सकता है क्योंकि हम जानते हैं कि गुड का निर्माण भी करने के द्वारा ही होता है जो कि बहुत ज्यादा मीठा होता है।

अगर आपको एक बार शुगर हो गया तो इसके द्वारा आपके पूरे शरीर में कई अन्य समस्याएं भी उत्पन्न हो जाएगी जैसे कि बहुत जल्दी थक जाना या शरीर का वजन बहुत ज्यादा बढ़ जाना या घट जाना इत्यादि। इसलिए गुड़ का सेवन अत्यधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए।


3) तीसरा नुकसान यह है कि इससे आपका वजन बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ता है। जिस कारण से यदि आप इसका सेवन बहुत लंबे समय तक ज्यादा करते रहेंगे तो आपको ओवरवेट की समस्या का सामना करना पड़ सकता है जोकि अन्य बीमारियों को भी अपने साथ लाती हैं।


4) चौथा नुकसान है, वह यह है कि इससे आपको नकसीर की समस्या हो सकती हैं जिसका अर्थ होता है आपके नाक से खून आना। इस खुद की तासीर बेहद ज्यादा गर्म होती हैं

जिस कारण से यदि आप इसका इस्तेमाल बहुत अधिक मात्रा में करते हैं तो आपके शरीर में बहुत अधिक मात्रा में गर्मी उत्पन्न होती हैं और इतनी गर्मी सहन ना होने के कारण आपके नाक से खून बहने लगता है इसे ही नकसीर की समस्या कहा जाता है।


5) पांचवा नुकसान है, वह यह है कि यदि आप इसका सेवन बहुत अधिक मात्रा में करते हैं तो आपको बदहजमी हो सकती हैं क्योंकि खाना खाने के बाद में बहुत अधिक मात्रा में गुड़ का सेवन करने से आपको बदहज्मी जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

तो गुड़ खाने के यह वह प्रमुख नुकसान हैं जो आपको यदि आप बहुत अधिक मात्रा में गुड खाते हैं तो आपको झेलने पड़ सकते हैं इसीलिए गुड़ का सेवन एक सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।


 

FAQ : Gud ko English mein kya kahate Hain

सवाल : अंग्रेजी में गुड को क्या कहा जाता है।

अंग्रेजी में गुड को जैगरी कहा जाता है।

सवाल : संस्कृत में गुड़ को क्या कहा जाता है।

क्योंकि हिंदी की उत्पत्ति संस्कृत से ही हुई हैं इस कारण से संस्कृत के कई सारे शब्दों को हूबहू हिंदी में सम्मिलित कर दिया गया जिस कारण से उनमें से कई सारे शब्दों के अर्थ में किसी प्रकार का परिवर्तन नहीं हुआ इसलिए संस्कृत में भी गुड़ को गुड़ ही कहा जाता है।

सवाल : गुड खाने का प्रमुख फायदा कौन सा है।

जो प्रमुख फायदा गुड खाने का है वह यह है कि आप की स्मरण शक्ति को बढ़ाता है और साथ ही आपकी पेट की समस्याओं को भी समाप्त करता है।

सवाल : गुड खाने का प्रमुख नुकसान कौन सा है।

गुड खाने का प्रमुख नुकसान यह है कि यह आपके वजन को बहुत अधिक बढ़ा सकता है और आपको बदहजमी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

सवाल : गुड़ का निर्माण किस से किया जाता है।

गुड़ का निर्माण तो गन्ने से किया जाता है।

सवाल : jaggery का हिंदी Meaning क्या होता है

जैगरीको हिंदी में गुड़ कहते है


conclusion

आज के इस हमारे ज्ञानवर्धक लेख में हमने Gud ko English mein kya kahate Hain के बारे में वह सभी बातें आपके साथ साझा की जो कि आपके लिए जानना बेहद जरूरी थी। हम आशा करते हैं आपको हमारा या ज्ञानवर्धक लेख पसंद आया होगा

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने प्रमुख विचारों को हमारे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें ताकि आगे आने वाले समय में हम आपके लिए इसी प्रकार के ज्ञानवर्धक लेख लाते रहे और आप की ज्ञान में वृद्धि करते रहे। धन्यवाद

Leave a Comment