मिज़ोरम की राजधानी क्या है (2022) Mizoram ki Rajdhani Kya Hai

Mijoram ki Rajdhani : मिज़ोरम भारत का राज्य है | जो भारत के उत्तर पूर्वी  दिशा में बसा है, यह राज्य सात बहनों में से एक है, यह पहाड़ो में बसा हुआ एक सुंदर राज्य है

इसका गठन 20 फरवरी 1987 में हुआ था,1972 में भारत के  अन्य उत्तर पूर्व राज्यों की तरह  मिज़ोरम भी पहले असम का हिस्सा था पर  1986  में भारतीय संसद ने भारतीय संविधान के 53 वें संशोधन को अपनाया

जिसने 20 फरवरी 1987 को भारत के 23 वें राज्य के रूप में मिजोरम राज्य के निर्माण की अनुमति दी, जिसके बाद मिजोरम भारत का राज्य बन गया

मिजोरम उत्तरपूर्वी भारत का हिस्सा है, भारत की सात बहने अरुणांचल प्रदेश, असम, मेघालय, मणिपुर, मिज़ोरम ,नागालैंड और त्रिपुरा हैं

 

विषय

मिज़ोरम की राजधानी क्या है (Mizoram ki Rajdhani Kya Ha)

 

Mizoram ki Rajdhani Kya Hai
Mizoram ki Rajdhani (capital) Kya Hai

 

मिज़ोरम राज्य का नाम मिज़ोरम कैसे पड़ा

मिज़ो का अर्मिथ होता है पहाड़ो में रहने वाले लोग अर्थात पहाड़ी, मिज़ोरम राज्य  दो शब्दों से मिलकर बना है

मिजोराम” ,राम का अर्थ मिजों भाषा में “भूमि” होता है तो इस प्रकार से मिज़ोरम का अर्थ हुआ “मिजो की भूमि” | राज्य का नाम मिज़ो मूल निवासियों के स्वयं वर्णित नाम से लिया गया है

 

मिज़ोरम राज्य का भूगोल

मिज़ोरम लगभग 21,087 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है,जिसमे से लगभग 91% वन से ढका हुआ है

मिज़ोरम राज्य सात बहनों (सात राज्य) में से तीन राज्यों के साथ सीमा साझा कर रहा है, वह तीन राज्य त्रिपुरा, असम और मणिपुर है

मिज़ोरम  बांग्लादेश और म्यांमार के साथ 722 किलोमीटर की सीमा भी साँझा करता है|

 

मिज़ोरम(Mizoram)राज्य की जनसँख्या

2022 के हिसाब से  मिज़ोरम की जनसँख्या 12.7 लाख थी

जनसँख्या के मामले में मिज़ोरम सिक्किम के बाद  दूसरा सबसे कम जनसँख्या वाला  राज्य है

मिज़ोरम की जनसँख्या वैसे तो बहुत है पर 2001 से लेकर 2022 तक इसमें भी बहुत बढ़ोतरी देखने को मिली है

2001 में मिज़ोरम की जनसँख्या 8 लाख के बराबर थी जो की 2022 में 12 लाख के लगभग हो गयी है

 

मिज़ोरम राज्य की संस्कृति

मिज़ोरम की संस्कृति पिछले 100 सालो में बहुत बदल गयी है

1890 के अंत में इस राज्य में ईसाई धर्म का आगमन हुआ, यहाँ के लोग कई पुरानी त्योहारों, रीतों की जगह क्रिसमस, इस्टर और अन्य ईसाई समारोह मनाते  है

मिज़ोरम में लोग अपने सांस्कृतिक कपडे ज्यादा पहनते है

पूरे मिज़ोरम शहर की प्रदर्शनी उसकी राजधानी के प्रदर्शन से हो जाती है | तो आइये अब हम मिज़ोरम के राजधानी के बारे में जानते है

  • मिज़ोरम में सबसे ज्यादा मिजो भाषा बोली जाती है

हमने अभी तक मिज़ोरम के बारे में जाना अब उसकी राजधानी के बारे में विस्तार में जानने की कोशिश करेंगे

 

मिज़ोरम(Mizoram)की राजधानी क्या है 

  • मिज़ोरम की राजधानी आइज़ोल (aizawl) है

जनसँख्या और भूगोल दोनों के मामले में आइज़ोल मिज़ोरम का सबसे बड़ा शहर है

इसकी अधिकारिक तौर से स्थापना 25 फरवरी 1890 में हुई थी,आइज़ोल प्रशासन का केंद्र भी है

जिसमे सभी महत्त्वपूर्ण सरकारी कार्यालय, राज्य विधानसभा भवन और नागरिक सचिवालय शामिल हैं

हर राजधानी अपने राज्य का प्रतिनिधित्व करता है, आइज़ोल भी मिज़ोरम की सुन्दरता संस्कृति को दर्शाता है

 

आइज़ोल इतिहास

आइज़ोल में 1871-72 में,मिज़ो प्रमुख  खलकोम के बुरे आचरण की वजह से अंग्रेजों को यहाँ पर एक चौकी स्थापित करनी पड़ीजो आगे चलके आइज़ोल गांव बन गया

सिपाही की टुकड़ियों ने यहाँ पर स्टाकडे और इमारतों का निर्माण किया, आइज़ोल को विद्रोह के बाद सब गावों ने समूह बना के एक बड़ा शहर बना दिया

मिज़ोरम की 25 % से ज्यादा आबादी इसकी राजधानी आइज़ोल में रहती है

 

आइज़ोल का भूगोल

आइज़ोल मिज़ोरम की कर्क रेखा के उत्तर में स्थित है|इसकी ऊँचाई समुन्द्र ताल से 1,132 मीटर पर स्थित है | आइज़ोल 457 किलो मीटर वर्ग में स्थित है|

 

आइज़ोल की जनसँख्या

आइज़ोल की आबादी 2022 में लगभग 4 लाख लोगो की  है, महिलाओं की जनसँख्या पुरषों की जनसँख्या से ज्यादा है

महिलाओं की जनसँख्या  50.61% है और पुरुष की जनसँख्या 49.39% है

आइज़ोल में 90 % से ज्यादा लोग ईसाई है, अन्य सभी लोग  की जनसँख्या बाकी बचे 10 % में आती है

 

आइज़ोल में मनाये जाने वाले  त्यौहार

मिज़ोरम तथा आइज़ोल अपनी झूम फसलों के लिए जाना जाता है, तथा लोग इससे जुड़े त्यौहार को पारंपरिक तौर पे धूम धाम से मनाते है

फसल उत्सव दिसंबर के महीने में मनाया जाता है, मीम कुट त्यौहार सितंबर में मक्के की फसल काटने के बाद दिवंगत आत्माओं के सम्मान में मनाया जाता है, ईसा मसीह का जन्म और नए साल का दिन भी प्रमुख त्यौहार हैं

मिज़ोरम तथा Mizoram ki Rajdhani में मनाये जाने वाले कुछ प्रसिद्द त्योहारों के नाम


  1. मिम कुट
  2. चप्चार कुट
  3. पावल कुट
  4. थाल्फवंग कुट

 

आइज़ोल के प्रमुख पर्यटन स्थल

 

  • बड़ा बाज़ार (Bara Bazaar)

बड़ा बाज़ार बहुत ही रंगीन बाज़ार है, यहाँ पर पारंपरिक और ट्रेंडी दोनों तरह के वस्तुएं मिलती है

बड़ा बाज़ार में औरतें की अत्यधिक दुकाने होती है

शहर के निवासी उपज, घर में बनी चीज़ें , पारंपरिक कपडे आदि बेचते है, यहाँ के लोग आम तौर पे पारंपरिक कपडे पहनते है

इसलिए बड़े बाजार में कपडे की अत्यधिक दुकाने है, यह बाजार मिज़ोरम के राजधानी के संस्कृति को दर्शाता है


  • बकतवांग गांव (Baktawng Village)

बकतवांग गाँव Mizoram ki Rajdhani में स्थित एक बड़ा गाँव है, इस गाँव में कुल 551 परिवार रहते है

दुनिया की सबसे बड़ा परिवार जो की 152 सदस्यों का है पर इस गाँव में रहता है

इस गावं में रहने वाले लोग बहुत ही मिलनसार भावना के है, इस गावं की सुंदर यहाँ के देश तथा यहाँ का पर्यावरण है


  • फ़ॉकलैंड अमुजमेंट पार्क (Folkand Amusement Park)

यह आइज़ोल का एक बहुत की प्रसिद्द पार्क है, एक सुरक्षित तथा खुले वातावरण की इच्छा से इस पार्क को बनाया है

यहाँ पर दोस्त और परिवार शांति से ख़ुशी पूर्ण समय व्यतीत कर सकते है, तथा प्यारी प्यारी यादें बना सकते है

यहाँ पर एक सकारात्मक वातावरण है, इस पार्क में हर उम्र के लोग आते है तथा एक शांति पूर्ण समय व्यतीत करते है


  • सोलोमन मंदिर (Solomon’s Temple )

यह मंदिर आइज़ोल का सबसे प्रसिद्ध मंदिर है जो 23 दिसंबर 1996 में बनाया गया था,इसे कोहरान थिआंघलिम ने बनवाया था

इसको “द होली चर्च” भी कहा जाता है,

यह एक ईसाईयों का चर्च है, इस मंदिर को बनाने में 20 साल लगे थे तथा इस मंदिर को सफ़ेद संगमरमर से बनाया गया था

यह मिज़ोरम का सबसे बड़ा मंदिर है जो की आइज़ोल में स्थित है |


  •  हमुइफांग (Hmuifang)

यह स्थल आइज़ोल के पास स्थित है, यह एक लोकप्रिय स्थल है

यहाँ पर मिजो प्रमुख के दिनों से हरे भरे घास के मैदान और कुँवारी जंगल घिरे हुए है

यह एक बहुत ही मनमोहक दृश्य प्रगट करता है, यहाँ पर बहुत ही विचित्र तथा रहस्यमई  पेड़ औषधीयाँ भी है

यह इसलिए भी प्रसिद्द है क्योंकि यहाँ पर पर्यटकों के लिए मिज़ोरम का एक बहुत ही प्रसिद्द त्यौहार थाल्फवंग कुट का आयोजन किया जाता है


  • बेरावातलंग (Berawtlang)

यह स्थल एक मनोरंजन केंद्र है, यह एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल है यहाँ पर कई औपचारिक समारोहों, सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ में अक्सर मेलों का आयोजन भी किया जाता है|यहाँ पर पर्यटकों के आवास के साथ साथ रेस्तरां के लिए भी कॉटेज है|


  • रेइक (Reik)

रेइक पहाडी आइज़ोलमें स्थिक मिज़ोरम की सबसे बड़ी पहाडी है

यह स्थान शहर के शोर से दूर बसा एक शांत स्थान है, यह पहाडी आइज़ोल से1600 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है, भारी संख्या में लोग यहाँ पर पर्यटन करते है


  • डर्टलांग पहाड़ियाँ (Dartlang hills)

आइज़ोल का यह एक आकर्षण केंद्र हैं जिस पर से आइज़ोल शहर के मनोरम दृश्य दिखाई पड़ते है

दार्त्लांग, दर्टलांग हिल्स की यात्रा करने का सबस अच्छा समय सुबह का होता है जब सूरज उतनी गर्मी नही देता जितना दोपहर के समय देता है


 

आइज़ोल की जलवायु

पहाड़ो पे बसे होने के कारण गर्मियों में तापमान 20-30 डिग्री सेल्सियस रहता है इसी कारण आइज़ोल में गर्मी कम होती है

सर्दियों में तापमान 11-21 डिग्री सेल्सियस तक रहता है, दिन का तापमान शेष वर्ष के तापमान से ठंडा होता है

अप्रैल और अक्टूबर के बीच में ज़्यादातर  बारिश होती है,शेष वर्ष विशेष रूप से शुष्क होता है

 

आइज़ोल के समाचार पत्र और रेडियो

आइज़ोल में लगभग सब अख़बार अंग्रेज़ी और मिज़ो  में लिखे जाते है, कुछ समाचार पत्रों के नाम

  1. वनग्लैनी
  2. जावलैदी
  3. ज़ोज़म वीकली
  4. मिजो एक्सप्रेस
  5. मिज़ो अरसी

आकाशवाणी अपने स्टूडियो से नियमित रूप से कार्यक्रम प्रसारित करता है, आइज़ोल का प्रसिद्ध रेडियो स्टेशन ज़ोअवी है |

 

आइज़ोल के प्रसिद्ध खेल

फुटबाल यहाँ का सबसे प्रिय खेल है, यहाँ के कई खिलाडी राष्ट्रीय स्तर पर भाग लिए है

शिक्षा आइज़ोल कॉलेज 1975 में स्थापित हुआ था

यहाँ पर सभी प्राइवेट व सरकारी स्कूल तथ कॉलेज है, यहाँ के लगभग सभी कॉलेज मिज़ोरम के विश्वविद्यालय से संबंधित है

मिज़ोरम विधि कॉलेज आइज़ोल के विद्यार्थीयों को सिक्षा प्रदान करवाता है

 

आइज़ोल में इन धर्मो का पालन होता है

नंबर धर्म लोगो के मानने का प्रतिशत
1 इसाई 93.63%
2 हिन्दू 4.14%
3 मुस्लिम 1.52%
4 बौद्ध 0.45%
5 सिक्ख 0.03%
6 जैन 0.02%
7 अन्य 0.20%

 

आइज़ोल में शिक्षा के प्रबंध

यहाँ पर सरकारी तथा प्राइवेट दोनों स्कूल तथा कॉलेज का प्रबंध है, यहाँ के लगभग सभी कॉलेज मिज़ोरम के कॉलेज से सम्बन्ध रखते है

पैरोचियल स्कूल, मिज़ोरम के बैपटिस्ट चर्च, कई रोमन कैथोलिक स्कूल धार्मिक आदेशो  और सांतवी द्वारा चलाये जाते है

आइज़ोल  विद्यालय केन्द्रीय विद्यालय द्वारा चलाया जाता है

मिज़ोरम के सभी लोग शिक्षा को लेके बहुत जागरूक है, यहाँ पर लड़कियों और लडको को सामान अधिकार दिए जाते है

और यहाँ पर लड़कियों की जनसँख्या भी लडको से ज्यादा है

 

आइज़ोल में बोले जाने वाली भाषाएँ

मिज़ोरम की राजधानी में कई भाषाएँ बोली जाती है, यहाँ पर सबसे अधिक मिजो भाषा बोली जाती है

नंबर भाषा बोले जाने का प्रतिशत
1 मिजो(mizo) 73.13%
2 चकमा (chakma) 8.51%
3 मारा (mara) 3.84%
4 तृपुरी (tripuri) 2.99%
5 पावी (pawi) 2.62%
6 पीते (paite) 2.04%
7 हमार (hmar) 1.65%
8 बंगाली (bengali) 1.37%
9 अन्य (eng,hindi,etc) 3.85%

 

आइज़ोल के नृत्य रूप

  1. चेराव
  2. खुल्लाम
  3. सरलामकाई
  4. चैमल

 

आइज़ोल के व्यंजन

यहाँ पे मुख्य रूप से केले के पत्तों पर परोसे जाने वाले मंसहारी व्यंजन होते है, इनका भोजन अन्य क्षेत्र के हिसाब से कम मसाले वाला होता है

व्यंजनों को सुगंध देने के लिए बांस के अंकुर का उपयोग किया जाता है, बाई, वाव्क्सा रेप और अरसा बुचियार यहाँ के पारंपरिक मिज़ो व्यंजनों में शामिल है

 

आइज़ोल का पारंपरिक पहनाव

मिजो की महिलाओं के कई पारंपरिक परिधान है | लेकिन सबसे पसंदीदा पुआन है, जो चूड़ीदार और कुर्ते के समान है, जिसमे तीन कपडे हैं-शीर्ष कपडें, लेगिंग और दुपट्टा जैसा एक हेडक्लोथ होता है

मिज़ोरम में पुरुषों की सादगी उनके कपड़ों में दिखाई देती है,पुरुष कपडे में एक लम्बा टुकड़ा पहनते है जो उनका पारंपरिक पहनावा है

 

आइज़ोल के बारे में कुछ तथ्य

  1. आइज़ोल अपनी प्राकृतिक सुन्दरता के लिए प्रसिद्ध है यह पूरा शहर कड़ी पर्वत श्रेणियों और घाटियों के बीच बसा हुआ है
  2. आज के समय में आइज़ोल पूरे उत्तर पूर्वी भारत में सबसे तेज़ी से तरक्की करने वाला देश है यहाँ के ज्यादा तर लोग पढ़े -लिखे है
  3. 2011 के अनुसार इस शहर की साक्षरता दर 98% है जो इसे भारत का सबसे शिक्षित शहर बनता है
  4. मिज़ोरम का राजनीतिक और सांकृतिक केंद्र आइज़ोल है
  5. यहाँ पे क्रिसमस सबसे ज्यादा धूम – धाम से मनाया जाता है
  6. आइज़ोल में पर्यटन स्थल भी बहुत सुंदर सुंदर है,यहाँ पर आप  पहाड़ो से कूदना तथा  तल्वांग नदी में राफ्टिंग का आनंद ले सकते है
  7. आइज़ोल का बड़ा बाज़ार सिर्फ औरतों (only women) नाम से भी प्रसिद्द है क्योंकि ये  बाज़ार सिर्फ महिलाएं चलाती है
  8. चनमारी आइज़ोल का एक हब है जहाँ पर स्कूल तथा कॉलेज के बच्चे आराम के लिए आते है |यहाँ पर जगह जगह बच्चे गिटार बजाते, नाचते आदि मनमोहत कृत करते दिखते है
  9. मिज़ोरम के लोगो के लिए आइज़ोल सांस्कृतिक  तथा धार्मिक राजधानी है
  10. आइज़ोल का ऊपर से देखने में नज़ारा एकदम अद्भुत होता है

 

FAQ’s – Capital of Mizoram in Hindi

सवाल : आइज़ोल किसकी राजधानी है ?

आइज़ोल मिज़ोरम की राजधानी है

सवाल : मिज़ोरम से सबसे प्रसिद्द क्या है ?

मिज़ोरम अपने सदाबहार पहाड़ियों और घने बांस के जंगलो के लिए जाना जाता है

सवाल : मिज़ोरम में सबसे बड़ा शहर कौन सा है ?

मिज़ोरम में सबसे बड़ा शहर आइज़ोल ही है

सवाल : मिज़ोरम में कौन सी भाषा बोली जाती है ?

मिज़ोरम में मिजो और इंग्लिश भाषा सबसे अधिक बोली जाती है

सवाल : क्या मिज़ोरम में और देश जैसे दीवाली, होली मनाई जाती है ?

नही मिज़ोरम में होली ,दीवाली तथा और भी कई पारंपरिक त्यौहार नही मनाये जाते ,यहाँ पर ज्यादा तर इसाई धर्म के त्यौहार मनाये जाते है

सवाल : मिज़ोरम में हिन्दुओं की जनसँख्या कितनी है ?

मिज़ोरम में 30,136 हिन्दुओं की जनसँख्या है

सवाल : आइज़ोल किस चीज़ के लिए प्रसिद्द है ?

अपनी कुदरती सुन्दरता के लिए प्रसिद्द है

सवाल : 8 मिज़ोरम भारत का राज्य कब बना ?

मिज़ोरम 20 फ़रवरी 1987 को 53 वें संशोधन के कारण भारत का राज्य बन गया

सवाल : मिज़ोरम में कितने शहर है ?

मिज़ोरम में लगभग 7 शहर है

सवाल : मिज़ोरम की जनसँख्या कितनी है ?

मिज़ोरम की जनसँख्या 2022 में 12 लाख के लगभग है


Conclusion

इस ब्लॉग लेख में आपने Mizoram ki Rajdhani Kya Hai बारें में जाना। आशा करते है आप मिज़ोरम की राजधानी (Capital) क्या है का हिन्दी मे क्या अर्थ होता है की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

अगर आपका इससे संबन्धित किसी भी तरह का सवाल है तब नीचे कमेन्ट में पूछ सकते है जिसका जवाब जल्द से जल्द दिया जायेगा।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी शेयर करना चाहिए तो इसे सोश्ल मीडिया पर सबके साथ इसे साझा अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस लेख को पढ़ने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया …

Leave a Comment